Home /News /madhya-pradesh /

OMG! 48 साल से नहींं सोए मोहनलाल, फिर भी कैसे जी रहे स्वस्थ जीवन

OMG! 48 साल से नहींं सोए मोहनलाल, फिर भी कैसे जी रहे स्वस्थ जीवन

MP के रीवा जिले के मोहनलाल पिछले 48 सालों से नहीं सोए हैं और डॉक्टर भी उनके इस मर्ज को नहीं पकड़ पाये हैं.

MP के रीवा जिले के मोहनलाल पिछले 48 सालों से नहीं सोए हैं और डॉक्टर भी उनके इस मर्ज को नहीं पकड़ पाये हैं.

Rewa News: रीवा के मोहनलाल 48 सालों से बिलकुल नहीं सोए हैं. इसके बावजूद वह स्वस्थ जीवन जी रहे हैं. हैरानी वाली बात ये है कि डॉक्टर भी उनके इस मर्ज का पता नहीं लगा पाए हैं. उनकी पत्नी और बेटी भी महज 3 घंटे सोते हैं.

रीवा. मध्य प्रदेश के रीवा जिले से एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है, जहां एक शख्स पिछले 48 सालों से जाग रहा है. बात तो चौंकाने वाली है कि भला कोई 48 सालों तक सोए बिना कैसे जीवित रह सकता है. रीवा के मोहनलाल द्विवेदी पिछले 48 सालों से नहीं सोए हैं. ऐसा भी नहीं कि उन्हें किसी भी तरह की कोई गंभीर बीमारी हो, जिससे वह दिन-रात लगातार 48 साल से जाग रहे हों. मोहनलाल ने दिल्ली-मुंबई जैसे बड़े महानगरों के अस्पतालों में डॉक्टरों से अपनी इस अनोखी बीमारी का इलाज भी करवाया. बड़े-बड़े डॉक्टर भी उनकी बीमारी का पता नही लगा पाए. इतना ही नही मोहनलाल की पत्नी और बेटी भी दिन में मात्र 3 से 4 घंटे ही सोती है. इसके अलावा, उनके शरीर का दर्द भी गायब हो गया है. मदनलाल को किसी भी चीज के चुभने का कोई दर्द नहीं होता.

रीवा शहर के चाणक्यपुरी कालोनी के रहने वाले रिटायर्ड ज्वाइंट कलेक्टर 71 वर्षीय मोहनलाल द्विवेदी ने साइंस को पूरी तरह से मात दे दी है. मेडिकल साइंस का कहना है कि हर इंसान को स्वस्थ रहने के लिए दिन के 24 घंटे के दरमियान 6-8 घंटे नींद लेना बहुत ही आवश्यक है. लेकिन मोहनलाल द्विवेदी ने 48 सालों में एक पल के लिए भी नींद नहीं ली. यह बात सुनकर हर कोई हैरान और चकित है कि भला ऐसे कैसे संभव हो सकता है कि कोई इंसान 48 सालों तक बिना सोए, स्वस्थ जीवन जी रहा हो.

 4-5 साल रीवा-जबलपुर से लेकर दिल्ली-मुंबई तक के डॉक्टरों ने देखा

परिजनों के द्वारा लगातार 4 से 5 साल तक रीवा जबलपुर से लेकर दिल्ली मुंबई तक के डॉक्टर को दिखाया कई प्रकार की जांच कराई, लेकिन उनकी इस अजीब बीमारी का कोई पता नहींं लग पाया. द्विवेदी ने आखिरी बार 2002 में चिकित्सकों से संपर्क साधा था. इसके बावजूद उनके इस मर्ज को कोई पकड़ नहीं पाया. बल्कि सोने के साथ ही उनके शरीर का दर्द भी गायब हो गया तथा अब किसी भी चीज के चुभने का दर्द उन्हें बिल्कुल भी नहीं होता.

ज्वाइंट कलेक्टर से रिटायर हुए हैं मोहनलाल

रिटायर्ड ज्वाइंट कलेक्टर मोहनलाल द्विवेदी का जन्म रीवा जिले के त्योंथर तहसील स्थित जनकहाई गांव में 01 जुलाई 1950 को हुआ था. उन्होंने प्रारंभिक शिक्षा गांव में ही ली उसके बाद रीवा गए इस दौरान भी वह कम नींद ही लेते थे तब रोजाना 2 से 3 घंटे की नींद लेते थे. मोहनलाल का कहना है कि 1973 में उनकी लेक्चरर की नौकरी लग गई. जिसके कुछ दिन बाद ही जुलाई माह से उनकी नींद गायब हो गई, जिसके बाद वह सरकारी नौकरी छोड़कर रीवा गए. रीवा के टीआरएस कॉलेज में संविदा पर प्रोफेसर बन गए. फिर 1974 में MPPSC क्वालीफाई कर नायाब तहसीलदार बने. 2001 में ज्वाइंट कलेक्टर बनने के बाद रिटायर हुए.

यह है मोहनलाल की दिनचर्या

• सुबह 4:00 बजे उठकर छत पर टहलना और स्वस्थ रहने के लिए योगा करना.
• सुबह 7:00 बजे स्नान और उसके बाद पूजापाठ.
• सुबह 10:00 बजे नाश्ता और उसके एक घंटे बाद भोजन.
• दोपहर 12:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक किताबें पढ़ने के साथ अन्य कार्य करना.
• शाम 7:00 बजे से रात 9:00 बजे तक फिर पूजा पाठ करना.
• रात्रि 10:00 बजे से टीवी देखना.
• फिर रात्रि 12:00 बजे से जागते हुए बिस्तर में लेटे रहना.

Tags: Mp news, OMG, OMG News, Rewa News

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर