Home /News /madhya-pradesh /

दिन में हुई हेड कॉन्सटेबल की पिटाई, शाम को कराया मेडिकल, रात में रिश्वत लेते गिरफ्तार

दिन में हुई हेड कॉन्सटेबल की पिटाई, शाम को कराया मेडिकल, रात में रिश्वत लेते गिरफ्तार

Madhya Pradesh Bribe Case: सतना जिले का हेड कॉन्सटेबल (मध्य में) दिन में पिटाई के बाद रात को रिश्वत लेने चला गया. लोकायुक्त ने उसे रंगेहाथों पकड़ लिया.

Madhya Pradesh Bribe Case: सतना जिले का हेड कॉन्सटेबल (मध्य में) दिन में पिटाई के बाद रात को रिश्वत लेने चला गया. लोकायुक्त ने उसे रंगेहाथों पकड़ लिया.

Rewa-Satna Big Crime News: मध्य प्रदेश के इतिहास में पहली बार हुआ होगा जब लोकायुक्त ने देर रात रिश्वतखोरी के आरोप में किसी को ट्रैप किया हो. लोकायुक्त ने रविवार रात करीब 11 बजे सतना पुलिस के हेड कॉन्सटेबल रामसुरेश यादव को तीन हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया. दरअसल, रामनरेश ने पुष्पेंद्र सिंह से FIR न करने की एवज 10 हजार रुपये मांगे थे. सौदा 8 हजार में तय हुआ था. आरोपी को पुष्पेंद्र ने 5 हजार रुपये पहले ही दे दिए थे. बाकी के 3000 रुपये लेने ही वह गांव गया था.

अधिक पढ़ें ...

रीवा. मध्य प्रदेश पुलिस के एक हेड कॉन्सटेबल के साथ रविवार को अजीबो-गरीब वाकया हुआ. रविवार को दिन में उसकी एक आरोपी को पकड़ते वक्त पिटाई हुई और रात को वह रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार हो गया. वह घायल अवस्था में ही रिश्वत लेने चला गया और वहां लोकायुक्त के हत्थे चढ़ गया. संभवतः यह पहला मामला है जब लोकायुक्त पुलिस ने रात में कार्रवाई कर रिश्वत के किसी आरोपी को पकड़ा है.

यह घटना घटी सतना जिले के रामनगर थाने में पदस्थ हेड कॉन्सटेबल रामसुरेश यादव के साथ. वह टीम के साथ रीवा के लौर थाना इलाके के कांडी में हत्या के आरोपियों को पकड़ने गया था. लेकिन, आरोपी को गिरफ्तार करते वक्त पुलिस की टीम पर परिजनों और ग्रामीणों ने हमला कर दिया. इसमें रामसुरेश सहित छह पुलिसकर्मी घायल हो गए. इसके बाद सभी का मेडिकल कराया गया और रिपोर्ट दर्ज की गई.

इतने रुपये में तय हुआ सौदा

यहां पिटाई में घायल होने के बाद रिश्वत का आरोपी हेड कॉन्सटेबल रिश्वत लेने सतना के मुकुंदपुर पहुंच गया. उसने अपने थाना इलाके के गांव हिनौती में रहने वाले पुष्पेंद्र सिंह से FIR न करने की एवज 10 हजार रुपये मांगे थे. सौदा 8 हजार में तय हुआ था. आरोपी को पुष्पेंद्र ने 5 हजार रुपये पहले ही दे दिए थे. बाकी के 3000 रुपये लेने ही वह गांव गया था. रामसुरेश और पुष्पेंद्र के बीच तय हुआ कि रकम रात 11 बजे ली जाएगी.

लोकायुक्त टीम पहले ही थी तैयार

इधर, पुष्पेंद्र सिंह ने लोकायुक्त अधिकारियों को पहले ही भ्रष्टाचार की सूचना दे दी थी. वह मौके पर पहले से ही मौजूद थे. हेड कॉन्सटेबल रामसुरेश ने जैसे ही 3 हजार की रिश्वत ली, वैसे ही लोकायुक्त की टीम ने उसे पकड़ लिया. बताया जाता है कि यह प्रदेश का पहला मामला है, जब किसी रिश्वतखोरी के आरोपी को देर रात ट्रेस किया गया हो. आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद सतना से रीवा के राजनिवास सर्किट हाउस लाया गया. यहां लोकायुक्त की कार्रवाई देर रात तक चलती रही.

Tags: Lokayukta, Mp news, Rewa News

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर