• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • इन दिनों खुद एनीमिया का शिकार है शहडोल का ब्लड बैंक

इन दिनों खुद एनीमिया का शिकार है शहडोल का ब्लड बैंक

 फोटो-ईटीवी

फोटो-ईटीवी

मध्य प्रदेश के शहडोल संभाग मुख्यालय का इकलौता ब्लड बैंक इन दिनों स्वयं एनीमिया का शिकार होकर रह गया है. सर्जरी एवं गंभीर बीमारियों में ब्लड यूनिट की अनिवार्यता को देखते हुए लाखों रुपये खर्च कर स्थापित ब्लड बैंक में अव्यवस्था का माहौल है, और मरीज परेशान हो रहे हैं.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के शहडोल संभाग मुख्यालय का इकलौता ब्लड बैंक इन दिनों स्वयं एनीमिया का शिकार होकर रह गया है. सर्जरी एवं गंभीर बीमारियों में ब्लड यूनिट की अनिवार्यता को देखते हुए लाखों रुपये खर्च कर स्थापित ब्लड बैंक में अव्यवस्था का माहौल है और मरीज परेशान हो रहे हैं.

ब्लड बैंक में एक साथ दो मरीजों के लिए बी पॉजिटिव ब्लड की जरूरत पड़ी, और इसकी व्यवस्था के लिए परिजनों को दर-दर की ठोकरें खाने को विवश होना पड़ा क्योंकि एक भी यूनिट ब्लड जिला अस्पताल के ब्लड बैंक में उपलब्ध नहीं था.

नतीजन आनन- फानन में कटनी जिला अस्पताल से 60 यूनिट ब्लड उधार मांग कर लाया गया. जिसमें 40 यूनिट बी पॉजिटिव और 20 यूनिट ओ निगेटिव है.शहडोल जिला अस्पताल में हर दिन कम से कम 20 यूनिट ब्लड की खपत है.

जिले में 30 से ज्यादा थैलीसीमिया के मरीज हैं जिन्हें हर माह खून की जरूरत होती है. खून नहीं मिलने से मरीज दम तोड़ रहे हैं और संपन्न लोग बड़े शहरों की ओर रुख कर लेते हैं.

करीब तीन साल पहले ब्लड बैंक को ऑनलाइन करने के लिए वेबसाइट बनाई गई थी. इसका उद्देश्य सभी रक्तदाताओं का रिकार्ड ऑनलाइन व अपडेट करना था. इसके अलावा प्रदेशभर के किस जिले के ब्लड बैंक में कितना ब्लड है, इसकी जानकारी भी वेबसाइट पर ही उपलब्ध करवानी थी.

वेबसाइट तो बनी मगर इस पर कोई जानकारी नहीं  दी जा रही है. यहां भी पीडी (प्रोफेशनल डोनर) सक्रिय हैं. वे मरीज को मनमाने दाम पर खून बेचते हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज