होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /SHOCKING: दुश्मनों को फंसाने के लिए पिता ने कर दिया इकलौते बेटे का मर्डर

SHOCKING: दुश्मनों को फंसाने के लिए पिता ने कर दिया इकलौते बेटे का मर्डर

मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले से एक बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया है. यहां एक व्यक्ति ने दुश्मनों को फंसाने के लिए अपने इकलौते ढाई साल के बेटे की हत्या कर दी. हत्या के बाद बेरहम पिता अपने दुश्मनों के खिलाफ मामला दर्ज कराने के लिए पुलिस थाने भी पहुंच गया. हालांकि, पुलिस की जांच में खुलासा हुआ कि पिता ने ही अपने बेटे की हत्या कर दी. पुलिस ने आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया.

मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले से एक बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया है. यहां एक व्यक्ति ने दुश्मनों को फंसाने के लिए अपने इकलौते ढाई साल के बेटे की हत्या कर दी. हत्या के बाद बेरहम पिता अपने दुश्मनों के खिलाफ मामला दर्ज कराने के लिए पुलिस थाने भी पहुंच गया. हालांकि, पुलिस की जांच में खुलासा हुआ कि पिता ने ही अपने बेटे की हत्या कर दी. पुलिस ने आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया.

मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले से एक बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया है. यहां एक व्यक्ति ने दुश्मनों को फंसाने के लिए अपने ...अधिक पढ़ें

  • News18
  • Last Updated :

    मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले से एक बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया है. यहां एक व्यक्ति ने दुश्मनों को फंसाने के लिए अपने इकलौते ढाई साल के बेटे की हत्या कर दी. हत्या के बाद बेरहम पिता अपने दुश्मनों के खिलाफ मामला दर्ज कराने के लिए पुलिस थाने भी पहुंच गया. हालांकि, पुलिस की जांच में खुलासा हुआ कि पिता ने ही अपने बेटे की हत्या कर दी. पुलिस ने आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया.

    मातगुवां थाना प्रभारी के मुताबिक छापर गांव में रहने वाले 26 वर्षीय छत्रपाल सिंह यादव ने अपने ढ़ाई साल के मानसिक रुप से विक्षिप्त बेटे इंद्रपाल की हत्या कर दी. इसके बाद इंद्रपाल ने ने अपने दुश्मन रामशरण यादव, ब्रजराज यादव, प्रमोद यादव, ब्रजभान यादव और एक अन्य के खिलाफ बेटे के अपहरण की रिपोर्ट पुलिस थाने पर दर्ज करा दी.

    पुलिस की जांच में हुआ चौंकाने वाला खुलासा

    छत्रपाल सिंह की शिकायत पर पुलिस ने तुरंत हरकत में आते हुए सभी 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. सभी आरोपियों की इतनी आसानी से गिरफ्तारी से पुलिस को संदेह हुआ. सभी आरोपी खुद को बेगुनाह बता रहे थे और उनकी लोकेशन भी घटनास्थल के पास नहीं मिल रही थी. इसी आधार पर पुलिस ने छत्रपाल से सख्ती से पूछताछ की तो वह टूट गया और उसने बेटे की हत्या करना कबूल कर लिया.

    इलाज के नाम पर रची साजिश

    छत्रपाल ने दुश्मनों से बदला लेने के लिए बड़े ही सुनियोजित तरीके से साजिश रची. उसने अपनी पत्नी को भी धोखे में रखा. उसने पत्नी से कहा था कि वह इंद्रपाल को इलाज के लिए जटाशंकर मंदिर ले जा रहा हैं. वहां मंदिर के पास मानसिक रुप से विक्षिप्त लोगों का इलाज होता है. छत्रपाल मंदिर जाने के दौरान रास्ते में उसने अपने बेटे का गला तौलिया से घोंटकर उसकी हत्या कर दी और मासूम के शव को रगौली के पास ही झाड़ियों में फेंक दिया. इसके बाद मंदिर जाकर पूजा-पाठ की और फिर पुलिस थाने पहुंच गया.

    मां का बुरा हाल, बेटा गंवाया, पति सलाखों के पीछे

    छत्रपाल की इस करतूत के बाद पूरे गांव में मातम पसरा हुआ है. किसी को भी यकीन नहीं हो रहा है कि कोई इस तरह भी अपने बेटे की जान ले सकता है. पुलिस ने छत्रपाल से पूछताछ के आधार पर इंद्रपाल का शव बरामद किया तो मां का दिल टूट गया. उसका रो-रोकर बुरा हाल है. वहीं पुलिस ने छत्रपाल के खिलाफ धारा 302, 201 और 203 के तहत मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया.

    Tags: Murder

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें