परमिट नहीं मिलने पर वन विभाग ने रोका NCL के ट्रकों का परिवहन, एक ही दिन में करोड़ों का नुकसान

एमपी के सिंगरौली जिले में संचालित नार्दन कोलफील्ड लिमिटेड (एनसीएल) में कोयले को ले जा रहे 70 ट्रकों को वन विभाग ने रोक लिया. परमिट नहीं होने पर उन्हें आगे नहीं जाने दिया गया, जिससे एनसीएल को करोड़ों का नुकसान हुआ है.

Raj Dwivedi | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: August 30, 2016, 1:12 PM IST
परमिट नहीं मिलने पर वन विभाग ने रोका NCL के ट्रकों का परिवहन, एक ही दिन में करोड़ों का नुकसान
file photo
Raj Dwivedi | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: August 30, 2016, 1:12 PM IST
एमपी के सिंगरौली जिले में संचालित नार्दन कोलफील्ड लिमिटेड (एनसीएल) में कोयले को ले जा रहे 70 ट्रकों को वन विभाग ने रोक लिया. परमिट नहीं होने पर उन्हें आगे नहीं जाने दिया गया, जिससे एनसीएल को करोड़ों का नुकसान हुआ है.

वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि जयंत कोल परियोजना से कोयला ले जा रहे किसी भी ट्रक के पास कोयले के परिवहन के लिए वन विभाग से जारी की जाने वाली ट्रांजिट परमिट नहीं मिली. जिसके चलते सभी ट्रकों को रोक लिया गया.

वन विभाग की इस कार्रवाई के बाद एनसीएल में हड़कंप मच गया है. इस कार्रवाई के कारण कोयले का कोई परिवहन नहीं हो सका, जिससे एनसीएल के ठेकेदारों और कंपनी को करोड़ों का नुकसान हुआ है.

मामले में एक तरफ कंपनी के अधिकारी का कहना है कि माइनिंग से रेलवे यार्ड तक ले जाने के लिए एनसीएल को ट्रांजिट परमिट की जरूरत नहीं है. वहीं दूसरी तरफ वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि बिना परमिट के किसी भी तरह के कोयले का परिवहन नहीं किया जा सकता है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर