लाइव टीवी

शिवराज सिंह चौहान और गोपाल भार्गव ने दी गिरफ्तारी, यूरिया को लेकर सागर में BJP का प्रदर्शन

Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 6, 2019, 8:13 PM IST
शिवराज सिंह चौहान और गोपाल भार्गव ने दी गिरफ्तारी, यूरिया को लेकर सागर में BJP का प्रदर्शन
यूरिया को लेकर बीजेपी का जबरदस्त प्रदर्शन, शिवराज ने गिरफ्तारी दी

किसानों को यूरिया (Urea) देने की मांग को लेकर भाजपा ने सागर (Sagar) में कांग्रेस सरकार के खिलाफ हल्ला बोला. पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के साथ यूरिया की मांग को लेकर गिरफ्तारी दी. इस दौरान शिवराज ने प्रदेश सरकार से कहा कि या तो यूरिया की कमी पूरी करो, या फिर जेल में हमारे रहने की व्यवस्था कर दो.

  • Share this:
सागर. मध्य प्रदेश के सागर में किसानों की समस्याओं को लेकर पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान और नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने आंदोलन (Protest) किया. ट्रैक्टर में सवार होकर पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान और नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, नरयावली विधायक प्रदीप लारिया के साथ मकरोनिया थाने में गिरफ्तारी देने पहुंचे, उनके साथ बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता भी गिरफ्तारी देने पहुंचे. थाने से पहले ही बैरिकेट्स लगाकर पुलिस ने सभी को रोकने की कोशिश की.

शिवराज ने सरकार से बजट का हिसाब मांगा
पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि या तो यूरिया की कमी पूरी कर दो या फिर जेल में रहने की व्यवस्था कर दो. उन्होंने इमरजेंसी के दौरान जेलों में रहने का हवाला देते हुए प्रदेश सरकार से 2,35,000 करोड़ के बजट का हिसाब मांगा. उन्होंने कहा कि सरकार 2 लाख रुपयों का कर्जामाफ करने की बात कर रही है लेकिन वास्तव में किसान डिफाल्टर हो गए हैं.

यूरिया की कालाबाजारी का आरोप

शिवराज ने आरोप लगाया कि प्रदेश में यूरिया की कालाबाजारी हो रही है. उन्होंने कहा कि एक बोरी यूरिया 1700 रुपए में और डीएवीपी 1200 की बिक रही है. शिवराज ने आरोप लगाया कि प्रदेश में 250 की खाद 500 रुपयों में बिक रही है. उन्होंने प्रदेश सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि किसानों की आवाज दबने नहीं देंगे. शिवराज ने इस दौरान बिजली के बिलों की होली भी जलाई.

ये भी पढ़ें -
विदेश भाग सकते हैं ई-टेंडर के घोटालेबाज़! एक का वीजा रद्दतेलंगाना पुलिस से एमपी का भी है पुराना कनेक्शन, दो बार बचाई है 'इज्जत'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 6, 2019, 7:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर