सागर लोकसभा सीट: इस बार राजबहादुर सिंह बनाम प्रभु सिंह होगा मुकाबला

इस सीट पर पिछले 6 चुनावों से बीजेपी का ही कब्जा है. कांग्रेस को आखिरी बार इस सीट पर जीत 1991 में मिली थी.

News18 Madhya Pradesh
Updated: May 11, 2019, 3:24 PM IST
सागर लोकसभा सीट: इस बार राजबहादुर सिंह बनाम प्रभु सिंह होगा मुकाबला
राजबहादुर सिंह बनाम प्रभु सिंह
News18 Madhya Pradesh
Updated: May 11, 2019, 3:24 PM IST
मध्य प्रदेश की सागर लोकसभा सीट से बीजेपी ने प्रत्याशी का ऐलान कर दिया है. राजबहादुर सिंह बीजेपी के उम्मीदवार होंगे. उनका मुकाबला कांग्रेस के प्रभु सिंह ठाकुर से होगा. इस सीट पर पिछले 6 चुनावों से बीजेपी का ही कब्जा है. कांग्रेस को आखिरी बार इस सीट पर जीत 1991 में मिली थी.

राजबहादुर सिंह ठाकुर वर्तमान मे सागर नगर निगम के अध्यक्ष हैं. उन्होंने पार्षद से राजनीति शुरु की थी और लगातार तीन बार से पार्षद है. हालांकि वे एक नए चेहरे हैं और सक्रिय राजनीति से दूर रहे हैं दिलचस्प बात यह है कि वे बीजेपी नेता और पूर्व गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह के भांजे दामाद हैं.



वहीं दूसरी ओर कांग्रेस ने प्रभु सिंह ठाकुर को अपना उम्मीदवार बनाया है. वे बीना विधानसभा के ग्राम धनोरा निवासी हैं. इन्होंने अपना राजनैतिक सफर जनपद अध्यक्ष बीना से शुरू किया था. 1990 में उन्होंने सुधाकर बापट के सामने बीना से विधानसभा चुनाव लडा जिसमे पराजय हाथ लगी थी. कांग्रेस ने 1993में इन्हें फिर से मौका दिया जिसमें वे सुधाकर बापट को हराकर विधायक बने. वे दिग्विजय सरकार में पंचायत ग्रामीण विकास राज्यमंत्री भी थे.

बीजेपी ने किया ऐलान, भोपाल से दिग्विजय सिंह के खिलाफ लड़ेंगी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर

आखिरी बार 1991 में कांग्रेस को यहां जीत मिली थी. तब कांग्रेस के आनंद अहीरवार ने बीचेपी के राम प्रसाद अहीरवार को हराया था. फिलहाल इस सीट पर बीजेपी का कब्जा है. बीजेपी के लक्ष्मी नारायण यादव यहां के सांसद हैं. उन्होंने 2014 में गोविंद सिंह राजपूत को हराया था.

2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के लक्ष्मी नारायण यादव ने कांग्रेस के गोविंद सिंह राजपूत को हराया था. इस चुनाव में लक्ष्मी नारायण यादव को 4,82,580(54.11 फीसदी) वोट मिले थे तो वहीं गोविंद सिंह राजपूत को 3,61,843(40.57 फीसदी) वोट मिले थे. दोनों के बीच हार जीत का अंतर 120737 वोटों का था. इस चुनाव में बसपा 2.23 फीसदी वोटों के साथ तीसरे स्थान पर थी.

सागर की 72.01 फीसदी आबादी ग्रामीण क्षेत्र और 27.99 फीसदी आबादी शहरी क्षेत्र में रहती है. सागर की 22.35 फीसदी आबादी अनुसूचित जाति के लोगों की है और 5.51 फीसदी आबादी अनुसूचित जनजाति के लोगों की है. चुनाव आयोग के आंकड़े के मुताबिक 2014 के चुनाव में इस सीट पर 15,20, 184 मतदाता थे. इसमें से 7,04,827 महिला मतदाता और 8,15,357 पुरुष मतदाता थे. 2014 के चुनाव में इस सीट पर 58.67 फीसदी वोटिंग हुई थी.
Loading...

यह भी पढ़ें- सुषमा स्वराज की विदिशा सीट से बीजेपी ने इस नए प्रत्याशी को मैदान में उतारा
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...