लाइव टीवी

सागर में नाबालिग को बंधक बनाकर ब्रांच मैनेजर ने 2 दिन तक किया रेप, आरोपी गिरफ्तार

Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: January 16, 2020, 5:17 PM IST
सागर में नाबालिग को बंधक बनाकर ब्रांच मैनेजर ने 2 दिन तक किया रेप, आरोपी गिरफ्तार
आरोपी नाबालिग को गांव से अगवा कर अपने ऑफिस में लेकर आया था.

मध्‍य प्रदेश के सागर में फाइनेंस कंपनी (Finance Company) के ब्रांच मैनेजर द्वारा नाबालिग को बंधकर बनाकर रेप (Rape) करने का आया है. ब्रांच मैनेजर नाबालिग को अगवा कर अपने ऑफिस में लेकर आया था.

  • Share this:
सागर. मध्‍य प्रदेश में भले ही अपराधों के ग्राफ में कमी आई है, लेकिन दुष्‍कर्म की घटनाएं नहीं रुक पा रही हैं. नया मामला सागर में फाइनेंस कंपनी (Finance Company) के ब्रांच मैनेजर द्वारा नाबालिग को बंधकर बनाकर रेप (Rape) करने का आया है. ब्रांच मैनेजर ने नाबालिग को बंधक बनाकर अपने ही ऑफिस में लगातार दो दिन तक दुष्कर्म किया. वह नाबालिग को गांव से अगवा कर अपने ऑफिस में लेकर आया था.

पिता की शिकायत पर आरोपी गिरफ्तार
एक फाइनेंस कंपनी में पदस्थ ब्रांच मैनेजर रामसहाय लोधी ग्रामीण इलाकों में स्व सहायता समूहों की राशि को लेकर जाता रहता था. सुरखी में राशि के लेनदेन को दौरान ही उसकी नाबालिग लड़की पर नजर पड़ी और उसे शुक्रवार की रात को अगवा कर लिया. नाबालिग के ना मिलने पर पिता ने सुरखी थाने में ब्रांच मैनेजर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई. शिकायत के बाद पुलिस ने जब दबिश दी तो देवरी ऑफिस से ही आरोपी को धर दबोचा. हालांकि पुलिस की पूछताछ में लड़की ने खुलासा किया है कि ब्राच मैनेजर बंधक बनाकर लाया और उसने अपने ऑफिस में ही दो दिन से बंधकर बनाकर रखा और इस दौरान ज्यादती की. लड़की के बयान के आधार पर ब्रांच मैनेजर पर पॉस्को एक्ट की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया गया..

आरोपी हुआ गिरफ्तार

आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. फाइनेंस कंपनी के रीजनल मैनेजर ने बताया कि ब्रांच मैनेजर अक्सर ही रात में ब्रांच में ही रुका करते थे. लंबे समय ही ब्रांच मैनेजर का यही रूटीन था. ऑफिस में ही नाबालिग को बंधकर बनाकर रखा, लेकिन इसकी उन्‍हें कोई जानकारी नहीं थी.

पुलिस अब खंगाल रही और सबूत
हालांकि इस पूरे मामले की तफ्तीश में देवरी पुलिस जुटी हुई है. सीसीटीवी फुटेज के आधार पर और भी साक्ष्य जुटाने में जुटी है. क्या इसी तरह की और घटनाएं ब्रांच मैनेजर इससे पहले भी कर चुका है. अगर सीसीटीवी नहीं लगे है तो क्या निकाल लिए गए थे, ताकि कोई फुटेज ना मिल सके. जबकि अब फाइसेंस कंपनी के ऑफिस के आसपास पुलिस लोगों से पूछताछ कर मामले की पड़ताल में जुटी है. 

ये भी पढ़ें-

नगर निगम के परिसीमन को लेकर BJP-कांग्रेस में घमासान, महापौर ने लगाए ये आरोप

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सागर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 16, 2020, 5:11 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर