बेहतरीन मिसाल : कोविड के खिलाफ जंग जीतने के लिए गांव वालों ने खुद ही लगा लिया कोरोना कर्फ्यू

स्व घोषित लॉकडाउन के  सड़कें सूनीं और गांव में सन्नाटा है.

स्व घोषित लॉकडाउन के सड़कें सूनीं और गांव में सन्नाटा है.

Damoh. दमोह विधानसभा सीट पर उपचुनाव प्रचार के दौरान बीजेपी कांग्रेस के दिग्गज नेताओं का यहां आना-जाना लगा रहा. सीएम शिवराज ने तो एक के बाद एक कई सभाएं कीं.

  • Share this:
दंमोह सागर के नज़दीकी ज़िले दमोह (Damoh) में दो दिन बाद यानि 17 अप्रैल को उपचुनाव (By election) है. विधानसभा सीट के लिए यहां वोट डाले जाने हैं. पूरे प्रदेश के अधिकांश ज़िलों में कोरोना कर्फ्यू है लेकिन दमोह को छोड़ दिया गया. इसका फैसला लोकल प्रशासन और चुनाव आयोग के पाले में कर दिया गया था. चुनाव प्रचार के लिए नेताओं के धुआंधार दौरे होते रहे. ज़ाहिर कोरोना संक्रमण का खतरा तो यहां भी उतना ही है. नेताओं की इस भीड़ और कार्यकर्ताओं की आवाजाही के बीच एक गांव के लोग ऐसे भी निकले जिन्होंने खुद ही गांव को लॉकडाउन कर लिया.

ये है दमोह ज़िले का हिनौता कला गांव. ये आता तो हटा तहसील में है. इसका चुनाव से कोई लेना-देना नहीं. लेकिन पड़ोस में आना-जाना लगा तो हो इसका असर गांव पर भी पड़ सकता था. यानि कोरोना संक्रमण यहां और फैल सकता था. इसलिए गांव वालों ने खुद ही प्रेरित होकर गांव को लॉकडाउन करने का फैसला ले लिया. हिनौता कला में बाजार बंद रखने का फैसला ग्रामीणों ने स्वैच्छिक तरीके से लिया है. सरकार ने अपनी तरफ से बाजार बंद करने कोई निर्णय नहीं लिया है.

संक्रमण बढ़ा तो सावधानी बरती

हटा के हनोता गांव में कोरोना का संक्रमण बहुत तेजी से बढ़ रहा है. सरकार ने हिनौता में अब तक केवल 1कोरोना मरीज की पुष्टि की है. बल्कि गांव में कोरोना कुछ मौतें भी हुई है. फिलहाल यहां के 10 से 20 कोरोना पॉजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है. इसकी सरकारी आंकड़ों में कोई पुष्टि नहीं है. गांव वाले कह रहे हैं कि अफसर चुनाव में लगे हैं. प्रशासन फिलहाल कोई ध्यान नहीं दे रहा है. इसलिए हम ग्रामीणों, व्यापारियों ने अपनी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए हिनौता बाजार बंद कर लिया. खुद भी हम लोग घरों में हैं. अभी बंद को आगे भी बढ़ाने का फैसला करेंगे. कोरोना से बचाव के लिए हम सभी व्यापारी और ग्रामीणों ने निर्णय लिया है कि मास्क लगाकर रखें और सावधानी बरतें . क्योंकि स्थिति अब गंभीर हो चली है.
इसी में है सबका भला

गांव के कुछ अग्रणी लोगों ने ये फैसला किया तो पूरी जनता ने उनका साथ दिया. सबने बात मानी और बेवजह घर से न निकलने, मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंस मेंटेंन करने का संकल्प लिया. सभी व्यापारियों ने ग्रामीणों की सुरक्षा के लिए बाजार बंद रखा है. कोरोना वायरस से हिनौता में गांव में कोरोना के मरीज लगातार बढ़ रहे हैं. इसलिए लॉकडाउन का फैसला सबकी सुरक्षा को ध्यान में रखते ही लिया गया है.





नेताओं के धुआंधार दौरे

दमोह विधानसभा सीट पर उपचुनाव प्रचार के दौरान बीजेपी कांग्रेस के दिग्गज नेताओं का यहां आना-जाना लगा रहा. सीएम शिवराज ने तो एक के बाद एक कई सभाएं कीं. पूर्व सीएम कमलनाथ भी दो बार दौरे पर आए. ज्योतिरादित्य सिंधिया. नरेन्द्र सिंह तोमर, प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष वी डी शर्मा सहित कई नेता यहां आए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज