Home /News /madhya-pradesh /

75 की उम्र में लगाते थे फुटपाथ पर दुकान, वहींं पर तोड़ा दम, मन को झकझोर देने वाली तस्वीर

75 की उम्र में लगाते थे फुटपाथ पर दुकान, वहींं पर तोड़ा दम, मन को झकझोर देने वाली तस्वीर

Sagar News: सागर जिले में 75 साल के बुजुर्ग चंदनलाल राय आर्थिक तंगी से लड़ते-लड़ते जिंदगी की जंग हार गए.

Sagar News: सागर जिले में 75 साल के बुजुर्ग चंदनलाल राय आर्थिक तंगी से लड़ते-लड़ते जिंदगी की जंग हार गए.

Sagar News: सागर में 75 साल की उम्र में लकड़ी का सामान बेचने वाले चंदनलाल राय जिंदगी की जंग हार गए. दरअसल, उनकी मौत जिस जगह और जिस प्रकार हुई उसने मन को झकझोर दिया. चंदनलाल दुकान पर जिस हालत मे बैठे थे उसी हालत में वे चल बसे. मौत के बाद जिस स्थिति में बाइक से टिके, उससे लोगों को लगा ही नहीं कि अब वे इस दुनिया में नहीं हैं. ये घटना सागर के कटरा बाजार में बुधवार को घटी. शव करीब डेढ़ घंटे तक उसी हालत में पड़ा रहा. किसी की नजर उन पर नहीं पड़ी. इस दौरान पास से गुजर रहे किसी शख्स ने पुलिस को सूचना दी. पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची और पंचनामा बनाया.

अधिक पढ़ें ...

सागर. सागर के कटरा बाजार में बुधवार को मन को झकझोर देने वाली घटना घटी. स्थित कीर्ति स्तंभ के पास लकड़ी का सामान बेच रहे 75 साल के बुजुर्ग की उनकी दुकान पर ही हार्ट अटैक से मौत हो गई. जिस हालत में बुजुर्ग बैठे थे, मौत के बाद उसी हालत में बाइक से जा टिके. उनका शव करीब डेढ़ घंटे तक उसी हालत में पड़ा रहा. किसी की नजर उन पर नहीं पड़ी. इस दौरान पास से गुजर रहे किसी शख्स ने उन्हें देख लिया और पुलिस को सूचना दी. पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची और पंचनामा बनाया. बाद में शव का पोस्टमॉर्टम करा दिया.

जानकारी के मुताबिक मृतक का नाम चंदनलाल राय था. वे तुलसीनगर वार्ड में रहते थे. घर चलाने के लिए वे सालों से लकड़ी के पटा, बेलन जैसे सामान बेचते थे. उनकी छोटी और खुली दुकान कटरा बाजार और आसपास के मेलों में लगती थी. बुधवार को भी उन्होंने राज की तरह कटरा बाजार में दुकान लगाई, लेकिन कुछ देर बाद ही उनकी मौत हो गई. गुरुवार दोपहर उनका अंतिम संस्कार किया गया. बता दें, चंदनलाल राय की एक बेटी और चार बेटे हैं. उन्होंने बेटी की शादी पहले ही करा दी थी. उनका एक बेटा दिमागी तौर पर कमजोर है. दूसरी ओर, पत्नी सियारानी लकवाग्रस्त है. पत्नी की हालत 5 साल से खराब है. उनके बाकी तीन बेटे मजदूरी करते हैं. लेकिन, आर्थिक तंगी और बीमारी का खर्चा उठाने के लिए वे चंदनलाल बाजार में दुकान लगाते थे. ताकि, इस कमाई से घर चल सके और पत्नी का इलाज हो सके.

जिद कर लगाते थे दुकान

चंदनलाल के परिजनों ने कहा कि मना करने के बाद भी वे दुकान लगाते थे. उनकी दुकान कटरा बाजार में ही लगती थी. बुधवार को भी रोजाना की तरह दोपहर में दुकान लगाने निकले थे. परिजनों के मुताबिक, उन्हें हमेशा कहा जाता था कि अब घर पर रहो. लेकिन परिवार की आर्थिक स्थिति देखते हुए वे दुकान लगाने की जिद करते थे. ये पता नहीं था कि वे आज घर लौटेंगे या नहीं.

Tags: Mp news, Sagar news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर