लाइव टीवी

मां से बिछड़ा बंदर का बच्चा, कुत्ते ने पहुंचा दिया पुलिस चौकी

Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 23, 2019, 4:55 PM IST
मां से बिछड़ा बंदर का बच्चा, कुत्ते ने पहुंचा दिया पुलिस चौकी
बंदर का बच्चा भी बिना हिचक के कुत्ते की पीट पर आराम से बैठ गया.

सागर (Sagar) में एक कुत्ते (Dog) ने नन्हें बंदर (Little monkey) के साथ ना सिर्फ दोस्ती निभाई बल्कि संवेदनाओं की मिसाल भी पेश की है. सागर जिले के बलेह गांव में मां से बिछड़े नन्हे बंदर को कुत्ते ने अपनी पीठ पर बैठाकर पुलिस चौकी तक पहुंचाया, ताकि नन्हा बंदर सुरक्षित हाथों में पहुंच जाए.

  • Share this:
सागर. संकट की घड़ी में जब लोग अपनों का भी साथ छोड़ देते हैं, ऐसे में जानवरों (Animals) ने दोस्ती का प्यारा सा संदेश (Message of friendship) लोगों के सामने पेश किया है. सागर जिले (Sagar District) के बलेह गांव में मदद के साथ ही संवेदनाओं की अनोखी तस्वीर भी दिखाई दी. दरअसल अपनी मां से बिछड़ा नन्हा बंदर सागर में तालाब के किनारे भटक रहा था, भूख से भी परेशान था. ऐसे में जब कुत्ते की नज़र उस पर पड़ी तो उसने बंदर की मदद करने का फैसला कर लिया. कुत्ता अपनी मां से बिछड़े इस नन्हें बंदर का न सिर्फ सहारा बना बल्कि उसने बंदर को अपनी पीठ पर बैठाकर बलेह पुलिस चौकी तक पहुंचाया.

हैरान रह गए सभी
कुत्ते ने बंदर को पीठ पर बैठाया. वो भी बिना हिचक के आराम से उसकी पीठ पर सवार हो गया. कुत्ते ने पीठ पर बैठाकर नन्हे बंदर को पुलिस चौकी तक पहुंचाया. पुलिस चौकी में कुत्ते के पहुंचते ही वहां मौजूद तकरीबन सभी लोग हैरान रह गए. कुत्ते और नन्हे बंदर की दोस्ती और मदद की भावना से चौकी प्रभारी भी प्रभावित हुए बिना नहीं रह सके. उन्होंने तत्काल भूखे बंदर के खाने का इंतज़ाम कराया. कुत्ते का काम यहीं खत्म नहीं हुआ. वो इस बात को सुनिश्चित करने के लिए काफी देर तक थाने में बैठा रहा कि बंदर का बच्चा सही हाथों में है या नहीं.

News - पुलिस ने नन्हें बंदर के लिए खाने की व्यवस्था भी की
पुलिस ने नन्हें बंदर के लिए खाने की व्यवस्था भी की


वन विभाग को सौंपा जाएगा नन्हा बंदर
सागर की बलेह चौकी के प्रभारी अवधेश दुबे का कहना है, 'ऐसा मैंने कभी नहीं देखा, मदद की ऐसी मिसाल देखकर सुखद अनुभूति हुई.' उन्होंने बताया कि नन्हे बंदर के गले में जंजीर बंधी हुई है. देखकर लग रहा है कि बंदर के गले में किसी ने जंजीर बांध रखी थी. अब बंदर वन विभाग को सौंपा जा रहा है, ताकि उसे अपनी बिछड़ी मां से मिलवाया जा सके.

ये भी पढ़ें -
Loading...

कमलनाथ सरकार को हाईकोर्ट का नोटिस, महिलाओं को हेलमेट ना पहनने की छूट क्यों दी?
दिग्विजय सिंह का आरोप- राम मंदिर मुद्दे के जरिए मठ मंदिरों पर कब्जा जमाना चाहता है RSS

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 23, 2019, 3:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...