लाइव टीवी

युवक ने नर्मदा में छलांग लगाई तो नाविक और गोताखोरों ने जान पर खेलकर बचाया

Ashish Jain | News18 Madhya Pradesh
Updated: January 22, 2020, 11:35 PM IST
युवक ने नर्मदा में छलांग लगाई तो नाविक और गोताखोरों ने जान पर खेलकर बचाया
सतधारा घाट को सुसाइड प्वाइंट के नाम से भी जाना जाता है

नर्मदा के सतधारा घाट पर बने 115 फीट ऊंचे नए ब्रिज (Bridge) से एक युवक ने छलांग लगाई तो उसे नदी किनारे काम करने वाले नाविक और गोताखोरों ने अपनी जान पर खेलकर बचा लिया. यहां नर्मदा (Narmada) चट्टानों के बीच से बहती है और इस जगह को सुसाइड प्वाइंट के रूप में जाना जाता है.

  • Share this:
नरसिंहपुर. 'जाको राखे साइयां मार सके ना कोय' ऐसा ही कुछ हुआ नरसिंहपुर (Narsinghpur) में, जहां नर्मदा के सतधारा घाट (Satdhara ghat) पर बने 115 फीट ऊंचे नए ब्रिज से एक युवक ने छलांग लगाई तो उसे बचाने 3 फरिश्ते पहुंच गए. नदी में युवक को तेज धार में बहते हुए देखा तो नदी किनारे काम करने वाले नाविक और गोताखोर उसे बचाने नर्मदा की तेज धार में निकल पड़े. जैसे तैसे तीनों ने मिलकर घायल युवक को नर्मदा से बाहर निकाला तो सरकारी एंबुलेंस ने धोखा दे दिया. बमुश्किल एंबुलेंस और डायल 100 की टीम पहुंची तब जाकर इस घायल युवक को इलाज के लिये करेली अस्पताल भेजा गया.

कौन है कूदने वाला?
कूदने वाले युवक का नाम रिंकू जाट बताया जा रहा है, जो करेली थाने के खैरी महलपुरा गांव का रहने वाला है. मंगलवार दोपहर इस युवक ने नर्मदा के इस ऊंचे ब्रिज से छलांग लगा दी थी. हालांकि छलांग लगाने की वजह अभी साफ नहीं हो सकी है.

जांबाजों ने जान दांव पर लगा दी

नर्मदा यहां चट्टानों के बीच बहती है ऐसे में यहां नर्मदा की रफ्तार बहुत तेज है. चंद पलों में ब्रिज से कूदने के बाद रिंकू तेजी से नर्मदा में बहने लगा. जिसे देख घाट पर मौजूद नाविक गोविंद और उसके तीन साथियों ने जांबाजी दिखाते हुए नर्मदा की इन तेज धारों पर खुद की डोंगियों दौड़ाना शुरू कर दिया. करीब 200 फुट तक बहने के बाद रिंकू को जिंदा बचा लिया गया. डोंगी के सहारे ये जांबाज रिंकू को घाट तक लेकर आये और फिर पुलिस और एम्बुलेंस को कॉल कर घटना की जानकारी दी.

सुसाइड के लिये जाना जाता है सतधारा
सतधारा में नर्मदा का प्राकृतिक स्वरूप जितना खूबसूरत है उतना ही खतरनाक भी. यहां कूदने या गिरने वालों के बचने के आसार ही नहीं होते. इस जगह की खूबसूरती ही चट्टानों से हैं जिनके बीच से ये नर्मदा बहती है. जब भी कोई नदी या उसके किनारों पर ब्रिज से कूदता है तो चट्टान पर गिरने की वजह से उसका बचना नामुमकिन सा होता है और नदी के अंदर की चट्टानों और भंवर में फंसकर रह जाता है. इस वजह से रेस्क्यू ऑपरेशन भी यहां आसान नहीं होता. ऐसे में इस शख्स का बचना किसी आश्चर्य से कम नहीं.ये भी पढ़ें -
शिवराज का तंज, 'ऐसे लोग मंत्री बनाए जाने के काबिल नहीं', जीतू पटवारी का पलटवार
BJP कार्यकर्ताओं को चांटे मारने वाली DM और डिप्टी कलेक्टर का सम्मान करेगी कांग्रेस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नरसिंहपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 11:33 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर