• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • जिले के 3034 आंगनबाड़ी केंद्रों में से 2147 केंद्रों में शौचालय ही नहीं

जिले के 3034 आंगनबाड़ी केंद्रों में से 2147 केंद्रों में शौचालय ही नहीं

साकेत मालवीय-सीईओ,जिला पंचायत सतना 

साकेत मालवीय-सीईओ,जिला पंचायत सतना 

सतना के महिला बाल विकास के आंगनबाड़ी केंद्र भगवान भरोसे चल रहे हैं. जिले के 3034 आंगनबाड़ी केंद्रों में से 2147 में शौचालय ही नहीं हैं. इन गांवों के नौनिहाल खुले में शौच कर रहे हैं और विभाग गांव-गांव जाकर स्वच्छता और खुले में शौच न करने के लिए लोगों को जागरूक कर रहा है.

  • Share this:
सरकार एक ओर करोड़ों खर्च कर स्वच्छता का पाठ पढ़ा रही है.निजी और सामुदायिक शौचालयों का निर्माण भी करा रही है मगर शासकीय भवनों पर स्वच्छता को लेकर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा.सतना के महिला बाल विकास के आंगनबाड़ी केंद्र भगवान भरोसे चल रहे हैं. जिले के 3034 आंगनबाड़ी केंद्रों में से 2147 में शौचालय ही नहीं हैं. इन गांवों के नौनिहाल खुले में शौच कर रहे हैं और विभाग गांव-गांव जाकर स्वच्छता और खुले में शौच न करने के लिए लोगों को जागरूक कर रहा है.ऐसे में अब जिला प्रशासन का दावा है कि जल्द ही इस दिशा में प्रयास होंगे और आंगनबाड़ी केंद्रों में शौचालय के किए वैकल्पिक व्यस्थाएं की जाएंगी और  नवीन भवनों के  निर्माण में शौचालय का निर्माण अनिवार्य किया जाएगा.

महिला बाल विकास विभाग से प्राप्त आंकड़ों ने स्वच्छता अभियान की कलाई खोल कर रख दी है. जिले के 3034 आंगनवाड़ी केंद्रों में 1200 आंगनबाड़ी निजी भवनों में संचालित है, जहां शौचालय की कोई व्यवस्था नहीं है.947 ऐसे आंगनबाड़ी केंद्र हैं जिनका स्वयं का भवन तो है पर शौचालय ही नहीं बने हैं.ऐसे में यहां आने वाले मासूम बच्चे खुले में शौच करते हैं.उनके लिए स्वच्छता का पाठ और चल रहा जागरूकता अभियान सिर्फ कहने सुनने की बात है. ज़िला प्रशासन के कई विभाग स्वच्छता अभियान में लगे हैं, उनमें महिला बाल विकास भी प्रमुख रूप से शामिल है.पर कहते हैं कि 'दीपक तले अंधेरा' तो कुछ यही बात यहाँ साबित हो रही है.आंगनबाड़ी कार्यकर्ता भी दबी जुबान स्वीकार कर रही हैं कि शौचालय न होने से उन्हें व बच्चों को परेशानी होती है पर उनकी मजबूरी है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज