जुड़वां बच्चों के अपरहण-हत्याकांड के एक आरोपी ने सतना जेल में लगाई फांसी

फाइल फोटो

फाइल फोटो

सतना के चित्रकूट में हुए श्रेयांश और प्रियांश हत्याकांड के 6 आरोपी में से एक ने फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली है.

  • Share this:
मध्य प्रदेश में सतना के चित्रकूट में हुए श्रेयांश और प्रियांश हत्याकांड के 6 आरोपियों में से एक ने फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली है. आरोपी सतना सेंट्रल जेल में बंद था. उसने जेल के अंदर ही फांसी लगाई  है. मृतक आरोपी का नाम रामकेश यादव है. वह चित्रकूट के सगे जुड़वा भाइयों की अपहरण कर हत्या का आरोपियों में से एक था. मामले का जेल प्रबंधन ने पुष्टि  की है. हालांकि पुलिस आत्महत्या के कारण के बारे में कुछ भी बोलने से बच रही है.



बता दें कि 12 फरवरी को सतना में एक स्कूल बस से दो बच्चों का अपहरण किया गया था. 20 लाख रुपये फिरौती लेकर बच्चों की निर्मम हत्या की घटना ने हर किसी को हिलाकर रख दिया था.अपहरणकर्ताओं ने पहचान उजागर होने की आशंका में बच्चों का हाथ-पैर बांध कर यमुना नदीं में फेंक दिया था. मामले में अपहरण के 12 दिन बीत जाने के बाद भी बच्चों का पता लगाने मे नाकाम रही मध्य प्रदेश पुलिस की बड़ी नाकामी सामने आई थी.



पुलिस ने मामले में 6 संदिग्धों को गिरफ्तार किया था. जिन छह लोगों को पुलिस ने इस मामले में गिरफ्तार किया है ये पेशेवर अपराधी नहीं थे, बल्कि संपन्न घरों के लड़के थे. माना जा रहा था कि जिन्होंने जल्द पैसा कमाने के लालच में इस वारदात को अंजाम दिया था. गिरफ्तार आरोपियों में एक स्कूल के सुरक्षा गार्ड का बेटा, एक बच्चों कोचिंग पढ़ाने वाला लड़का, एक बीटेक का छात्र और एक पुरोहित का बेटा शामिल थे.





ये भी पढ़ें-साध्वी प्रज्ञा का कम्प्यूटर बाबा पर पलटवार, कहा- 'मैं नहीं हूं बलि का बकरा..'
ये भी पढ़ें-बीजेपी की सबसे सुरक्षित सीट है विदिशा, वाजपेयी से लेकर सुषमा को पहुंचाया संसद
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज