जमीन विवाद में भाई ने भाई की ली जान, रचा अपहरण का नाटक

Shivendra Singh Baghel | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 18, 2019, 3:08 PM IST
जमीन विवाद में भाई ने भाई की ली जान, रचा अपहरण का नाटक
पुलिस ने 12 घंटे के अंदर हत्या के आरोपी भाई को गिरफ्तार किया.

सतना में जमीन विवाद में एक भाई ने अपने चचेरे भाई की हत्या कर दी और फिर पुलिस को गुमराह करने के उद्देश्य से इसे अपहरण का रूप देने की कोशिश की.

  • Share this:
सतना में जमीन विवाद में एक भाई ने अपने चचेरे भाई की हत्या कर दी. फिर हत्या के आरोप से बचने के लिए उसने एक फर्जी सिम से फोन कर मृतक चचेरे भाई के पिता यानि चाचा को फोन कर फिरौती के रूप में दस लाख रुपयों की मांग की. पुलिस के अनुसार हत्या के आरोपी ने बच्चे के अपहरण का नाटक इसलिए रचा ताकि जांच पड़ता कर रही पुलिस गुमराह हो जाए. मगर पुलिस ने 12 घंटे के अंदर हत्या के आरोपी तेजबली को गिरफ्तार कर मृतक के शव को बरामद कर लिया. पुलिस ने इस मामले में फर्जी सिम बेचने वाले दो लोगों को भी गिरफ्तार किया है. हालांकि इस हत्याकांड में शामिल एक शख्स धनीराम फरार चल रहा है. पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए जगह-जगह छापेमारी कर रही है.



बता दें कि दो परिवारों में जमीन विवाद की रंजिश को मन में रखते हुए मृतक का चचेरा भाई तेजबली ने अपने चाचा के इस पुत्र की हत्या की योजना पूर्व में ही बना ली थी. इसके लिए आरोपी तेजबली मृतक विकास कुमार प्रजापति उम्र 13 वर्ष को कई जगह घुमाने भी ले जाता था. दिनांक 16 अगस्त को भी हत्या करने से पूर्व तेजबली ने अपने चचेरे भाई मृतक विकास को घुमाने के लिए नदी के पास ले गया था. दोपहर बाद तेजबली ने मृतक विकास को गांव के बाहर बंसीपुर थाना नादन देहात मैहर क्षेत्र में एक गढ़ी में घुमाने के लिए बुलाया था. यहीं पर तेजबलि ने चचेरे भाई विकास को एक कुआं में हाथ पैर बांधकर डाल दिया, जिससे उसकी मौत हो गई.

पुलिस के अनुसार हत्या के आरोपी ने बच्चे के अपहरण का नाटक इसलिए रचा ताकि जांच पड़ता कर रही पुलिस गुमराह हो जाए.


हत्या का आरोपी भाई भी पीड़ित परिवार के साथ भाई को ढूंढ रहा था

इधर विकास के घर नहीं लौटने के कारण परिवार के लोग उसे ढूंढने लगे. इसमें मृतक के पिता के साथ आरोपी तेजबली भी मृतक विकास की तालाशी में लग गया. फिर अगले दिन 17 अगस्त को फरियादी मृतक विकास के पिता ने थाना अमरपाटन में अपने इकलौते पुत्र विकास की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई. सतना के पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल ने कहा कि एफआईआर दर्ज होने के बाद आरोपी को संभवत: ऐसा लगा कि कहीं पकड़े न जाएं, इसके लिए उसने दूने पैसे देकर किसी दूसरे के आईडी से एक फर्जी सिम दुकान से खरीदी. फिर उसी सिम से फोन कर पीड़ित पिता से पैसे की मांग की गई ताकि पुलिस गुमराह हो जाए और इसे अपहरण का मामला समझे. उन्होंने कहा कि जांच पड़ताल के बाद पुलिस ने फर्जी सिम बेचने वाले दो लोगों के साथ हत्या के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. उन्होंने कहा कि हत्या के इस मामले में एक और आरोपी धनीलाल फिलहाल फरार है.

ये भी पढ़ें - कमलनाथ छोड़ेंगे पीसीसी अध्यक्ष का पद, ये होंगे नए अध्यक्ष!
Loading...

ये भी पढ़ें - कोटा बैराज से चंबल में पानी छोड़ने से टापू बने दर्जनों गांव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सतना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 18, 2019, 2:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...