अपना शहर चुनें

States

VIDEO: गणतंत्र दिवस पर सतना आ रहे हैं शिवराज, खास मेहमान को साग-पुड़ी और खीर खिलाएंगे छेदीलाल

छेदीलाल पेशे से मेहनतकश मज़दूर हैं.
छेदीलाल पेशे से मेहनतकश मज़दूर हैं.

Satna News : गणतंत्र दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) सतना और रीवा के दौरे पर हैं. वे यहां समरसता भोज के तहत दलित बस्ती में दिन का भोजन और रात का डिनर करेंगे. सीएम का स्वागत करने की दोनों जगह हो रही तैयारी.

  • Share this:
सतना. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) रीवा और सतना (Satna News) के दौरे पर आ रहे हैं. वे अपने इस दो दिन के दौरे के दौरान वो आज रात रीवा में प्रधानमंत्री आवास में रह रही दलित महिला और फिर गणतंत्र दिवस पर सतना में रह रहे छेदीलाल आदिवासी के घर पर लंच करेंगे. छेदीलाल ज़ोर-शोर से सीएम के स्वागत की तैयारियों में जुटे हैं.

शिवराज सिंह चौहान गणतंत्र दिवस पर सतना के दौरे पर रहेंगे. वो यहां बीटीआई ग्राउंड में करोड़ों रुपये के विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास करेंगे. उसके बाद वो यहां के वार्ड नंबर 29 में प्रधानमंत्री आवास में रहने वाले छेदीलाल कोल के घर समरसता भोज करेंगे. खबर मिलते ही छेदीलाल कुछ सकपकाए और कुछ नर्वस हुए और फिर खुशी में तैयारी शुरू कर दी. वो और उनका पूरा परिवार सीएम शिवराज सिंह चौहान की स्वागत की तैयारी कर रहा है.

छेदीलाल मज़दूर हैं. मेहनत कर दो वक्त की रोटी कमा पाते हैं. लेकिन मुख्यमंत्री का स्वागत वो खीर-पुड़ी से करेंगे. छेदीलाल बिना लाग लपेट के कहते हैं जो हम खाएंगे वही उन्हें खिलाएंगे.हम पूड़ी-चने की साग मुख्यमंत्री साहब को खिलाएंगे. नाते-रिश्तेदार आते हैं तो पूड़ी-सब्ज़ी खिलाते हैं सो हम भी वहीं खिलाएंगे. गैस की टंकी खाली पड़ी है. इसलिए चूल्हे पर खाना बनाएंगे.उनके घर की महिलाएं कहती हैं कि चावल की खीर बनाएंगे. छेदीलाल इस खास मेहमान के स्वागत के लिए अपने घर-आंगन को लीप-पोत रहे हैं.





समस्याओं का अंबार
सीएम शिवराज सिंह चौहान सतना की जिस बस्ती में छेदीलाल के घर आ रहे हैं, वहां समस्याओं का अंबार है. यहां नालियां गंदगी से बजबजा रही हैं. किसी भी घर मे शौचालय नहीं हैं. जो शौचालय हैं वो प्रयोग करने लायक नहीं हैं. बस्ती में एक सामुदायिक शौचालय है वो भी ओवर फ्लो हो चुका है.

ODF शहर का हाल
कहने को सतना नगर निगम ओडीएफ है. इसके बावजूद अधिकांश आदिवासी शौच के लिए बाहर जाते हैं. बात सफाई की करें तो नालियों की सफाई नहीं हुई. कच्चे मकान खंडहर हो चुके हैं. आधे से ज्यादा आदिवासियों को पीएम आवास का लाभ नहीं मिला है. किसी को राशन नहीं मिल रहा तो कहीं आने जाने के लिए सड़क नहीं है. जगह-जगह गंदगी के ढेर हैं. इस वस्ती के लोगों के लिए कहीं भी मुक्ति धाम नहीं है. लोग नाले के किनारे मृतकों का अंतिम संस्कार करते हैं.

रीवा में आदिवासी महिला के घर डिनर
दो दिवसीय प्रवास पर सीएम शिवराज आज पहले रीवा पहुंचेंगे. सीएम वो यहां प्रधानमंत्री आवास में रह रही दलित महिला खोपिय बंसल के घर पर रात्रि भोजन करेंगे. मुख्यमंत्री के स्वागत में खोपिय जुटी हुई हैं. उन्होंने खुद ही अपने घर में रंग रोगन किया है और सीएम के लिए खाना बनाएंगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज