लाइव टीवी

सरकारी कार्यक्रम को लेकर BJP-कांग्रेस में घमासान, सांसद-MLA को नहीं मिला बुलावा

Shivendra Singh Baghel | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 31, 2019, 10:38 PM IST
सरकारी कार्यक्रम को लेकर BJP-कांग्रेस में घमासान, सांसद-MLA को नहीं मिला बुलावा
सतना जिले में कायम है कांग्रेस नेता अजय सिंह राहुल का जलवा.

सतना जिले (Satna District) के मैहर में एक बड़े शासकीय कार्यक्रम (Government Program) को लेकर भाजपा और कांग्रेस में घमासान मच गया है. इस कार्यक्रम में स्‍थानीय विधायक और सांसद को बुलावा नहीं दिया गया. जबकि कांग्रेस के नेताओं को महिता मंडित किया गया.

  • Share this:
सतना. सतना जिले (Satna District) के मैहर में आज अजीबोगरीब मामला सामने आया, जहां एक बड़े शासकीय कार्यक्रम (Government Program) को लेकर राजनीतिक पारा उछाल मार रहा है. दरअसल, भेड़ा गांव में एक शासकीय कार्यक्रम में स्थानीय जन प्रतिनिधियों को दरकिनार करते हुए कांग्रेस के उन नेताओं को महिमा मंडित किया गया जिन्हें जनता ने ये हक दिया ही नहीं था. इस कार्यक्रम में अपनी उपेक्षा किए जाने के बाद भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) ने प्रशासन पर हमला बोल दिया है.

अजय सिंह राहुल का ऐसा है जलवा
कांग्रेस का बड़ा नेता ना होने के बावजूद जिला प्रशासन के दम पर अजय सिंह राहुल (Ajay Singh Rahul) का जलवा किसी कैबिनेट मंत्री से कम नहीं है. वह बाकायदा सरकारी कार्यक्रम में मुख्य अतिथि बनाए जाते हैं और सरकारी स्कूल बिल्डिंग का फीता काटकर लोकार्पण करते हैं. यही नहीं, आंगनबाड़ी और राशन दुकानों का शिलान्यास भी करते हैं. मजेदार बात ये है कि शिलान्यास पत्थर में कांग्रेस संगठन कार्यकर्ताओ का नाम लिखा जाता है. जबकि यह अधिकार सांसद और स्थानीय विधायक का है, लेकिन उन्हें कार्यक्रम में ही नहीं बुलाया गया. आज ऐसा ही मामला मैहर के भेड़ा गांव में देखने को मिला जहां शासकीय कार्यक्रम का भव्य आयोजन हुआ. कार्यक्रम में पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल मुख्य अतिथि रहे तो लोकसभा चुनाव हर चुके राजाराम राम त्रिपाठी और कांग्रेस जिला ध्यक्ष दिलीप मिश्रा विशिष्ठ अतिथि रहे.

भाजपा को मंच पर नहीं मिली जगह

मगर सबसे चौंकाने बाली बात ये थी कि इस शिलालेख में न स्थानीय भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी को जगह मिली और न भाजपा सांसद गणेश सिंह को. अब इस मामले को लेकर राजनीति गरमा चुकी है. सतना भाजपा जिला अध्यक्ष नरेंद्र त्रिपाठी ने बयान जारी कर अजय सिंह राहुल के साथ शासन-प्रशासन पर जोरदार हमला किया है. हालांकि इस मौके पर अजय सिंह राहुल और स्थानीय कांग्रेस नेताओं को खूब महिमा मंडित किया गया. जबकि अपने भाषण में अजय सिंह राहुल ने स्वीकार्य किया कि विन्ध क्षेत्र में कांग्रेस को मिली हार से उनका स्तर गिरा है. वैसे वह कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष की कुर्सी को लेकर मचे घमासान पर ज्यादा बोलने को राजी नहीं हुए और एक बार फिर कांग्रेस का सिपाही और पद की लालसा न होने की बात कह कर कन्नी काट गए.

बहरहाल इस कार्यक्रम के बाद सतना जिले की राजनीति का पारा चढ़ चुका. भाजपा जिला अध्यक्ष ने फौरन मीडिया में बयान जारी कर न सिर्फ कड़ा विरोध किया बल्कि बड़े नेताओं से बातचीत के बाद बड़ा कदम उठाने की बात कही है. जबकि इस मामले में जिला प्रशासन कुछ भी बोलने को तैयार नहीं.

ये भी पढ़ें-
Loading...

पिता 'मध्‍य प्रदेश' और बेटा 'भोपाल' को हमेशा साथ रखना पड़ता है Aadhaar कार्ड, जानिए क्यों?

MP सरकार 59 करोड़ में खरीदेगी नया 7 सीटर प्लेन, कैबिनेट मीटिंग में हुए ये फैसले

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सतना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 31, 2019, 10:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...