डॉक्टरों की लापरवाही ने पूरन की जिदंगी में कर दिया अंधकार
Satna News in Hindi

डॉक्टरों की लापरवाही ने पूरन की जिदंगी में कर दिया अंधकार
जिला प्रशासन से आर्थिक मदद की गुहार लगाता फिर रहा असहाय पूरन

सतना में डॉक्टरों की लापरवाही का बड़ा मामला प्रकाश में आया है, जहां पूरन बसोर की जिंदगी में अंधकार हो गया.अब वह कभी नहीं देख पाएगा. धुंधला दिखने पर पूरन ने समरिटन ट्रस्ट अस्पताल में ऑपरेशन कराया था.ऑपरेशन के बाद उसे दिखना ही बंद हो गया.

  • Share this:
सतना में डॉक्टरों की लापरवाही का बड़ा मामला प्रकाश में आया है,जहां पूरन बसोर की जिंदगी में अंधकार हो गया.अब वह कभी नहीं देख पाएगा. धुंधला दिखने पर पूरन ने समरिटन ट्रस्ट अस्पताल में ऑपरेशन कराया था.ऑपरेशन के बाद उसे दिखना ही बंद हो गया.पीड़ित पूरन अपनी आंख की रोशनी वापस पाने के लिए एक साल से हर चौखट पर फरियाद कर रहा है.पहले आंख की रोशनी गई फिर बीमारी में मजदूरी गई.फिर इलाज में घर चला गया.अब असहाय पूरन जिला प्रशासन से आर्थिक मदद की गुहार लगा रहा है.

सतना की नई बस्ती में गरीब पूरन बसोर मेहनत मजदूरी करके अपना और अपने परिवार का पेट पाल रहा था.आंख से कम दिखने पर सतना के समरिटन ट्रस्ट अस्पताल के डॉक्टरों को दिखाया.पूरन ने डॉक्टरों की सलाह पर ऑपरेशन करा लिया. ऑपरेशन के बाद पुरन को दिखना ही बंद हो गया. जबकि ऑपरेशन के पहले चेकअप के बाद डॉक्टरों ने सब कुछ साफ साफ दिखने की बात कही थी.डॉक्टरों की लापवाही से पूरन का ऑपरेशन फेल हो गया.पूरन ने हर सरकारी चौखट में न्याय दिलाने की फरियाद की लेकिन नतीजा सिफर रहा.पूरन ने आंख की रोशनी वापस लाने के लिए घर तक बेचकर खूब ईलाज कराया लेकिन आंख की रोशनी वापस नहीं आई.पूरन ने अभी भी उम्मीदों का दामन नहीं छोड़ा है.

दो साल पहले चित्रकूट के जानकीकुंड अस्पताल में ऑपरेशन के बाद 12 मरीजो की आँखों की रोशनी चली गई थी.खूब हो हल्ला हुआ.दिल्ली भोपाल से जांच टीमों के दौरों की रस्म अदायगी हुई और मामला ठंडे बस्ते में चला गया.सतना में औसतन हर साल एक लाख आंख की मोतियाबिंद के ऑपरेशन किए जाते हैं.सतना जिला अस्पताल, समरिटन अस्पताल और चित्रकूट जानकीकुंड अस्पताल ऑपरेशन के लिए अधिकृत है.सतना सीएमएचओ दावा करते हैं कि ऑपरेशन पूर्व विशेषज्ञ डॉक्टर मरीज की जांच करते हैं,उसके बाद ऑपरेशन किया जाता है. आज के युग में ऑपरेशन फेल होने की संभावना न के बराबर होती है.फिर ऑपरेशन क्यों फेल हो रहे हैं,यह जवाब किसी के पास नहीं है.










अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading