फसल बीमा के नाम पर किसान हो रहे ठगी का शिकार
Satna News in Hindi

फसल बीमा के नाम पर किसान हो रहे ठगी का शिकार
किसानों से प्रीमियम राशी तो काट ली गई मगर बीमा की राशि नही मिली.

किसानों से प्रीमियम राशी तो काट ली गई मगर बीमा की राशि नही मिली.

  • Share this:
मध्य प्रदेश में सतना जिले का किसान फसल बीमा के नाम से फिर ठगा गया. किसानों से प्रीमियम राशी तो काट ली गई मगर बीमा की राशि नही मिली.

दरअसल, बीमा कंपनी और सरकार ने सतना जिले के किसानों को प्रधान मंत्री फसल बीमा के तहत 33 करोड़ की राशि देने का ढिढोरा पीटा और चित्रकूट चुनाव में मुदद्द भी बनाया मगर जिले को बीमा की राशि मिली सिर्फ चार करोड़ 33 लाख. वो भी 1600 किसानों को जबकि लगभग 3 हजार किसान सिर्फ बीमा. राशि मिलने का सपना ही संजोते रह गए, उन्हें इसका लाभ नही मिला.

सतना जिले के किसानों ने 2016 की रवी और खरीफ फसल के लिए प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना के लिए प्रीमियम जमा किया. जिले के 40 हजार दो सौ इक्यासी किसानों ने प्रीमियम की राशि जमा की. दो करोड़ 21 लाख टीम सौ रुपये बीमा कंपनी में प्रीमियम जमा हुई मगर किसानों को निराशा जब हाथ लगी जब लगभग 1600 किसानों को ही फसल बीमा की राशि स्वीकृत हुई.



चित्रकूट, नागौद और उचेहरा तहसील के एक भी किसान को इसका लाभ नही मिला. एक माह पहले तक सरकार और कृषि बिभाग जिले के किसानों को 33 करोड़ फसल बीमा की राशि मिलने का हवाला देता रहा, लेकिन जब राशि मिली वो सिर्फ चार करोड़ 34 लाख 92 हजार 736 रुपये ही.



कुल मिला कर जिले का लगभग 38 हजार किसान इस योजना से अछूता रह गया. किसानों की मानें तो क्रेंद और राज्य सरकार किसानों के साथ छलावा कर रही है. योजनाएं धरातल पर नही पहुच रही और किसान आत्महत्या को विवश हो रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading