लाइव टीवी

पूर्व क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण ने की सतना के एक किसान की तारीफ, ये है वजह
Satna News in Hindi

News18 Madhya Pradesh
Updated: February 18, 2020, 5:10 PM IST
पूर्व क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण ने की सतना के एक किसान की तारीफ, ये है वजह
पूर्व क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण ने की सतना के किसान बाबूलाल दाहिया की तारीफ (File Photo)

पेशे से किसान बाबूलाल दाहिया न केवल जैव विविधता की वजह से जाने जाते हैं बल्कि बघेली लोक साहित्य के नामचीन लेखक भी हैं.विंध्य में लोकोक्ति मुहावरों को वो सहेज कर रखे हुए हैं.

  • Share this:
सतना. मध्यप्रदेश में सतना के एक किसान बाबूलाल दाहिया मंगलवार को फिर चर्चा में आ गए, जब पूर्व क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman) उनके मुरीद हो गए. वीवीएस लक्ष्मण ने उनकी तारीफ में ट्वीट (twitter) किया. दाहिया खेती में अपने नये प्रयोग के लिए जाने जाते हैं. वीवीएस (VVS Laxman) ने इसी वजह से उनकी तारीफ की है.

सतना के एक किसान बाबूलाल दाहिया को पिछले साल सरकार ने पद्मश्री सम्मान से नवाज़ा और अब मशहूर क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण ने ट्वीट कर उनकी तारीफ की. बाबूलाल पिथौराबाद गांव के रहने वाले हैं. वो वैसे तो पेशे से किसान हैं लेकिन उनकी समझ और खेती के प्रति सोच और नज़रिया वैज्ञानिक है. अपने खेत में उन्होंने 125 तरह के देसी धान के बीज का संग्रह कर रखा है. इन बीजों से वो हर साल खेती करते हैं. नयी फसल लेते हैं. अपने इस बीज बैंक से वो दूसरे किसानों को भी बीज उपलब्ध कराते हैं.

वीवीएस लक्ष्मण का ट्वीट
बाबूलाल की ख्याति को पूर्व क्रिकेटर लक्ष्मण में अपने ट्वीट में जगह देकर उनकी तारीफ की है. लक्ष्मण ने लिखा-बाबूलाल दाहिया पर्यावरण को बचाने के लिए असाधारण काम कर रहे हैं. उन्होंने अपने खेत में चावल की पारंपरिक 110 वैरायटी की खेती की वो भी रासायनिक खाद का उपयोग किए बिना.





जैविक खेती की मुहिम
बाबूलाल दाहिया जैव खेती करते हैं और उन्होंने खेतों में रासायनिक खाद इस्तेमाल ना करने की मुहिम चला रखी है. बाबूलाल को प्रदेश और केंद्र सरकार कई सम्मान दे चुकी है. पिछले साल उन्हें जैव विविधता के लिए पद्मश्री सम्मान दिया गया था. इससे पहले शिवराज सरकार ने प्रदेश के कृषि कर्मण्य किसान का सम्मान देने की घोषणा की थी. लेकिन बाबूलाल ने प्रदेश में किसान आत्महत्या का हवाला देते हुए वो सम्मान लेने से इनकार कर दिया था.

बघेली के लेखक
पेशे से किसान बाबूलाल दाहिया न केवल जैव विविधता की वजह से जाने जाते हैं बल्कि बघेली लोक साहित्य के नामचीन लेखक भी हैं. विंध्य में लोकोक्ति मुहावरों को वो सहेज कर रखे हुए हैं.

(सतना से शिवेन्द्र सिंह बघेल की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें-

ज्योतिरादित्य सिंधिया की नाराज़गी के बीच CM कमलनाथ ने लिया शिवराज का नाम...

प्रेमिका ने घर में ही दफन कर दी लाश, ढाई महीने बाद ऐसे हुआ खुलासा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सतना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 18, 2020, 4:45 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर