• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • गेहूं खरीद केंद्रों पर 22 रुपये प्रति क्विंटल अवैध वसूली, किसान परेशान

गेहूं खरीद केंद्रों पर 22 रुपये प्रति क्विंटल अवैध वसूली, किसान परेशान

सरकारी खरीद केंद्रों के बाहर लगी अनाज भरे वाहनों की लाइन

सरकारी खरीद केंद्रों के बाहर लगी अनाज भरे वाहनों की लाइन

सतना जिले में अधिकांश समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीद केंद्रों पर किसान अपनी फसल लेकर हफ्तों से इंतजार कर रहा है.किसानों का आरोप है कि आए दिन तौल बंद कर दी जाती है और उनसे तुलाई के नाम पर 22 रुपये प्रति क्विंटल अवैध वसूली हो रही है.

  • Share this:
सतना जिले में अधिकांश समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीद केंद्रों पर किसान अपनी फसल लेकर हफ्तों से इंतजार कर रहा है. फसल की तौल नहीं हो रही है. किसान को तुलाई के नाम पर लूटा जा रहा है. भीषण गर्मी और लू के थपेड़ों के बीच किसान खरीद केंद्रों में डेरा जमाए हैं.प्रदेश में अब तक खरीद केंद्रों में दो किसानों की मौत हो चुकी इसके बावजूद न सरकार चेत रही और न ही जिला प्रशासन.45 डिग्री तापमान में किसान पेड़ों के नीचे हफ्तों से पड़े इंतजार कर रहा कि कब उनकी फसल बिके. खरीद केंद्र में न छाया की व्यवस्था है न पीने के पानी की.

इस मामले में मार्कफेड विभाग की लापरवाही भी सामने आ रही है. खरीद केंद्रों से फसल का परिवहन करने और वेयर हाउस में रखने का जिम्मा मार्कफेड का है मगर जिसे परिवहन की निविदा दी गई है, उस पर कोई अंकुश नहीं है.सतना जिले में 88 गेहूं खरीद केंद्र बनाये गए हैं. जहां किसानों से समर्थन मूल्य पर खरीद 15 अप्रैल से खरीद शुरु हुई मगर अधिकांश जगहों पर किसान परेशान है. किसान अपनी फसल लेकर खरीद केंद्रों में डेरा डाले हैं मगर फसल की तौल नहीं हो पा रही है.

किसान दिन रात अपनी फसल की पहरेदारी कर रहा और जिला प्रशासन को कोस रहा है.किसानों का आरोप है कि आए दिन तौल बंद कर दी जाती है और उनसे तुलाई के नाम पर 22 रुपये प्रति क्विंटल अवैध वसूली हो रही है.इन सारी शिकायतों के बाद जिला प्रशासन अंकुश लगाने में दिलचस्पी नहीं ले रहा है.पंजीकृत किसानों को मोबाइल मैसेज कर फसल मंगाई जा रही पर तौल नहीं हो रही है. किसानों ने खरीदी में हो रही लेटलफीती और मनमानी के खिलाफ कई बार चक्कजाम किया लेकिन समस्या जस की तस है.

 

 

 

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज