Home /News /madhya-pradesh /

सड़क हादसे के बाद पुलिस का अमानवीय बर्ताव, कचरागाड़ी में भेजे शव

सड़क हादसे के बाद पुलिस का अमानवीय बर्ताव, कचरागाड़ी में भेजे शव

Demo Pic

Demo Pic

हादसे के बाद एक बार फिर शवों के साथ अमानवीय बर्ताव का मामला सामने आया है. शव वाहन उपलब्ध नहीं होने पर पुलिसकर्मियों ने अमरपाटन नगर परिषद की कचरागाड़ी से ही तीनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल ले जाया गया.

    मध्य प्रदेश के सतना जिले में कार और डंपर की टक्कर में तीन लोगों की मौत हो गई. हादसे के बाद डंपर चालक मौके से फरार हो गया. मृतकों में एक महिला भी शामिल है.

    हादसा तड़के तीन बजे नेशनल हाइवे 7 पर अमरपाटन से रीवा रोड के बीच में हुआ. यहां एक टर्निंग पर कार और डंपर में टक्कर हो गई. हादसा इतना भयावह था कि कार में सवार उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर में रहने वाले विनोद मौर्य, आशा मौर्य और ड्राइवर की मौके पर ही मौत हो गई.

    हादसे की सूचना मिलने पर डायल 100 वाहन मौके पर पहुंच गया. पुलिसकर्मियों ने विनोद और आशा मौर्य के शव तो कार से बाहर निकाल लिए, लेकिन ड्राइवर का शव बुरी तरह फंसा हुआ था. इस वजह से शव को निकालने के लिए पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी.

    मौर्य परिवार के सदस्य कटनी में होने वाले एक विवाह समारोह में शामिल होने के लिए मिर्जापुर से कटनी आ रहे थे.

    हालांकि, हादसे के बाद एक बार फिर शवों के साथ अमानवीय बर्ताव का मामला सामने आया है. शव वाहन उपलब्ध नहीं होने पर पुलिसकर्मियों ने अमरपाटन नगर परिषद की कचरागाड़ी से ही तीनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल ले जाया गया.

    एसपी मिथिलेश शुक्ला से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने केवल हादसे की जानकारी देकर अपना पल्ला छाड़ लिया.

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर