MP: सतना से अगवा जुड़वां बच्चों की मिली लाश, लोगों ने पुलिस पर किया पथराव, धारा 144 लागू

सूत्रों के मुताबिक, अपहरणकर्ताओं ने बच्चों के पिता से 50 लाख रुपये की फिरौती मांगी थी, जिसके बाद पिता ने उन्हें 20 लाख रुपये दे भी दिया था, लेकिन शनिवार रात उत्तर प्रदेश के बांदा में बबेरू इलाके के पास यमुना नदी में बच्चों के शव मिले.

News18 Madhya Pradesh
Updated: February 24, 2019, 2:21 PM IST
MP: सतना से अगवा जुड़वां बच्चों की मिली लाश, लोगों ने पुलिस पर किया पथराव, धारा 144 लागू
किडनैप किए गए दोनों भाइयों की फाइल फोटो
News18 Madhya Pradesh
Updated: February 24, 2019, 2:21 PM IST
मध्य प्रदेश के सतना जिले में स्कूल बस से अगवा किए गए जुड़वां बच्चों के शव मिले हैं. अपहरणकर्ताओं ने दोनों की हत्या कर दी है. दोनों बच्चों के शव यूपी के बांदा से मिले हैं. इस घटना को लेकर चित्रकूट में लोगों का गुस्सा फूट पड़ा. लोगों ने यहां पुलिस की गाड़ी पर पथराव भी किया, जिसके बाद वहां धारा-144 लागू कर दी गई है.

बता दें कि 12 फरवरी को सतना में एक स्कूल बस से इन दो बच्चों का अपहरण किया गया था. बच्चों का नाम देवांश और प्रियांश है. सूत्रों के मुताबिक, अपहरणकर्ताओं ने बच्चों के पिता से 50 लाख रुपये की फिरौती मांगी थी, जिसके बाद पिता ने उन्हें 20 लाख रुपये दे भी दिया था, लेकिन शनिवार रात बच्चों के शव उत्तर प्रदेश के बांदा में बबेरू इलाके के पास यमुना नदी में मिले.

ये भी पढ़ें- CM ने परिजनों से की बात, सख्त कार्रवाई का दिया भरोसा

माना जा रहा है कि अपहरणकर्ताओं ने पहचान उजागर होने की आशंका में बच्चों के हाथ-पैर बांध कर यमुना में फेंक दिया. पुलिस ने मामले में 6 संदिग्धों को गिरफ्तार किया है. जिन छह लोगों को पुलिस ने इस मामले में गिरफ्तार किया है ये पेशेवर अपराधी नहीं हैं, बल्कि संपन्न घरों के लड़के हैं. जिन्होंने जल्द पैसा कमाने के लालच में इस वारदात को अंजाम दिया. गिरफ्तार आरोपियों में एक स्कूल के सुरक्षा गार्ड का बेटा, एक बच्चों कोचिंग पढ़ाने वाला लड़का, एक बीटेक का छात्र और एक पुरोहित का बेटा शामिल है.

इस बीच मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस घटना को बेहद दुखद बताते हुए कहा कि इस घटना ने मुझे झकझोर दिया है. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस मामले में बच्चों के परिजनों से फोन पर बातचीत कर उन्हें सांत्वना दी है. उन्होंने कहा कि निश्चित तौर पर यह घटना बेहद दुखद है. मुझे खुद इस बात का अफसोस है कि हम बच्चों को सकुशल वापस नहीं ला पाए. मेरी पूरी सरकार इस दुख की घड़ी में आपके साथ खड़ी है. हम निश्चित ही दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करेंगे.

ये भी पढ़ें- युवक ने थाने में की आत्महत्या की कोशिश, चोरी करने के आरोप में हुआ था गिरफ्तार

ये भी पढ़ें-  मध्य प्रदेश में 8 आईएएस अधिकारियों के तबादले, दिनेश जैन बने इंदौर के अपर कलेक्टर
First published: February 24, 2019, 10:52 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...