लाइव टीवी

BJP विधायक की 'घर वापसी' से चढ़ा सियासी पारा, MP ने संगठन से बनाई दूरी

Shivendra Singh Baghel | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 17, 2019, 5:09 PM IST
BJP विधायक की 'घर वापसी' से चढ़ा सियासी पारा, MP ने संगठन से बनाई दूरी
सांसद गणेश सिंह ने स्‍थानीय संगठन से किया किनारा.

मैहर विधायक नारायण त्रिपाठी (MLA Narayan Tripathi) ने कुछ दिन पहले भाजपा प्रदेश अध्‍यक्ष राकेश सिंह की उपस्थिति में 'घर वापसी' कर ली है. जबकि इस वजह से सतना सांसद गणेश सिंह (MP Ganesh Singh) ने स्‍थानीय संगठन से दूरी बना ली है. त्रिपाठी और सांसद में वर्चस्‍व की लड़ाई रही है.

  • Share this:
सतना. मध्‍य प्रदेश के सतना जिले (Satna District) का राजनीतिक पारा एक बार फिर चढ़ चुका है. जी हां, मैहर विधायक नारायण त्रिपाठी (Maihar MLA Narayan Tripathi) ने अपनी आदत के मुताबिक एक बार फिर राजनीतिक पैंतरा बदला है और उन्‍होंने एक बार फिर भाजपा में आस्था और अपनी निष्‍ठा व्यक्त की है. इस वजह से सतना सांसद गणेश सिंह (MP Ganesh Singh) ने स्‍थानीय संगठन से दूरी बना ली है. आपको बता दें कि तीन महीने पूर्व मानसून सत्र में मैहर भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी और शहडोल के ब्यौहारी भाजपा विधायक शरद कोल पार्टी पर जुबानी तीर छोड़ कर कांग्रेस के समर्थन में आ गए थे. जबकि कुछ दिन पहले भाजपा प्रदेश अध्‍यक्ष राकेश सिंह की उपस्थिति में 'घर वापसी' कर ली है. हालांकि विधायक नारायण त्रिपाठी दल बदलने के मामले में प्रदेशभर में खासे मशहूर हैं.

सतना में दिखा असर
भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी के सियासी ड्रामे का असर सबसे ज्यादा सतना में देखने को मिल रहा. इस वजह से स्थानीय भाजपा संगठन में रार पड़ चुकी और गुटबाजी को हवा मिल गई. सतना सांसद गणेश सिंह और नारायण त्रिपाठी के बीच लंबे समय से वर्चस्व की जंग जारी थी और अब इसका असर पार्टी संगठन तक पहुंच चुका है. गांधी संकल्प यात्रा में भी इसका असर दिखने लगा है. 2 अक्टूबर को शुरू गांधी संकल्प यात्रा में भाजपा जिलाध्यक्ष नरेंद्र त्रिपाठी और सांसद गणेश सिंह एक साथ नजर आते थे और दोनों फोटो बैनर-पोस्टरों में एक साथ दिखते थे, लेकिन 15 अक्‍टूबर भोपाल में विधायक के भाजपा में आने का असर सतना में देखने को मिलने लगा. अब इस यात्रा से जिलाध्यक्ष नरेंद त्रिपाठी की तस्वीर गायब हो चुकी है. जिलाध्‍यक्ष विधायक के करीब माने जाते हैं. वहीं विधायक की भाजपा में पुनः वापसी में नरेंद्र त्रिपाठी ने महती भूमिका निभाई थी. इस बात से शायद सांसद नाराज हैं और गांधी जन संकल्प यात्रा से जिलाअध्‍यक्ष को किनारे कर दिया है.

satna, bjp
भाजपा में पिछले चार सालों से दो नेताओं के बीच वर्चस्व की जंग छिड़ी हुई है.


वर्चस्व की लड़ाई में पिस रहे हैं कार्यकर्ता
जिला भाजपा में पिछले चार सालों से दो नेताओं के बीच वर्चस्व की जंग छिड़ी हुई है. जी हां, सतना सांसद गणेश सिंह और विधायक नारायण त्रिपाठी एक दूसरे को शह मात देने का खेल खेल रहे. 2014 लोकसभा चुनाव के ठीक दो दिन पूर्व कांग्रेस विधायक रहे नारायण त्रिपाठी ने कांग्रेस लोकसभा प्रत्याशी रहे अजय सिंह राहुल को निपटाने के लिए कांग्रेस से बगावत की थी और भाजपा में आ गए. गणेश सिंह अपने विरोधी अजय सिंह राहुल को मात देने में कामयाब भी हो. लेकिन गणेश सिंह और नारायण त्रिपाठी के बीच दोस्ती ज्यादा दिनों तक नहीं चल पाई. 2016 के मैहर विधानसभा उपचुनाव में ही दोनों नेताओं के मनमुटाव जगजाहिर हुए. हालांकि नारायण उपचुनाव जीते. जबकि 2018 के विधानसभा उपचुनाव में सांसद पर भितरघात का आरोप लगाकर नारायण त्रिपाठी सुर्खियों में रहे और इसके बाद 2019 के लोकसभा चुनाव में नारायण ने गणेश सिंह को सबक सिखाने की भरपूर कोशिश की, लेकिन सफलता नहीं मिली. जबकि सामूहिक मंचों से एक दूसरे पर अप्रत्यक्ष रूप से हमला बोला जाने लगा. फिर विधायक ने कमलनाथ साथ देकर पाला बदल लिया.

सांसद ने जिलाधय्क्ष से बनाई दूरी
Loading...

नारायण त्रिपाठी की बजह से सतना सांसद एक बार फिर संगठन से दूरी बना ली है और अकेला चलोरे पर विश्वास कर रहे हैं. गांधी संकल्प यात्रा की कमान खुद संभाल ली है, जिसमें पहले जिलाध्‍यक्ष नरेंद्र त्रिपाठी शामिल थे. पहले बैनर पोस्टरों में तस्वीरें थीं, लेकिन 15 तारीख नरेंद त्रिपाठी का पोस्टर और सहभागिता गायब है.

सांसद का दावा
इस पूरे मामले में सतना सांसद गणेश सिंह ने मीडिया से दूरी बना रखी है. उनकी मानें तो कुछ कुंठित लोग सोशल मीडिया में इस तरह की अपवाह फैला रहे हैं. गांधी संकल्प यात्रा पार्टी के निर्देश पर सबको साथ लेकर चलाई जा रही है.

ये भी पढ़ें-
ये भी MP का गांव बना पूरे देश के लिए मिसाल, 97 साल से इतनी है जनसंख्‍या

दिग्विजय का बड़ा बयान, बोले- वीर सावरकर ने गांधी की हत्‍या का रचा था षड्यंत्र

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सतना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 17, 2019, 4:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...