होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /धान उपार्जन ना होने से फांसी का फंदा डाल पेड़ पर चढ़े किसान, आत्महत्या की दी धमकी

धान उपार्जन ना होने से फांसी का फंदा डाल पेड़ पर चढ़े किसान, आत्महत्या की दी धमकी

गले में रस्सी का फंदा डाल पेड़ पर चढ़े किसान.

गले में रस्सी का फंदा डाल पेड़ पर चढ़े किसान.

Satna News: धान उपार्जन को लेकर 3 किसान पेड़ पर चढ़ गए और गले में रस्सी का फंदा डालकर आत्महत्या की धमकी देने लगे. यह सब ...अधिक पढ़ें

    प्रदीप कश्यप.

    सतना. मध्य प्रदेश के सतना जिले के अमरपाटन विधानसभा क्षेत्र के ताला ग्राम में आज उस वक्त हड़कंप मच गया, जब धान उपार्जन को लेकर किसान पेड़ पर चढ़ गए और गले में रस्सी का फंदा डालकर आत्महत्याकी धमकी देने लगे. यह सब देख आसपास के इलाके मे दहशत का माहौल पैदा हो गया.

    पेड़ पर चढ़े किसान वैद्यनाथ सिंह और अन्य किसानों का कहना था कि हमारी धान को उपार्जित किया जाए, लेकिन जब शासन प्रशासन के दरवाजे खटखटा कर थक गए, तब अंत में उन्हें यह आत्मघाती कदम उठाना पड़ा. वैद्यनाथ सिंह सहित तीनों किसानों ने पेड़ पर चढ़कर गले में रस्सी का फंदा डाल लिया. पुलिस और प्रशासन को मामले की सूचना मिलते ही अमरपाटन एसडीएम कमलेश पांडेय और तहसीलदार शैलेंद्र बिहारी शर्मा, ताला थाना प्रभारी के एन बंजारा सहित अधिकारी कर्मचारी मौके पर पहुंच गए, और किसानों को समझाइश देकर सकुशल नीचे उतार लिया गया.

    अनधिकृत उपार्जन केंद्र की सूचना पर की थी कार्रवाई- एसडीएम
    इस बारे में अमरपाटन एसडीएम कमलेश पांडेय ने बताया कि विगत दिनों ताला ग्राम के धोबहट में अनाधिकृत रूप से संचालित होने वाले धान उपार्जन केंद्र की सूचना मिली थी. सूचना के बाद मौके पर जाकर चेक किया गया तो वहां पर करीब 6 से 7 हजार बोरी धान रखी हुई मिली, जिसे सील कर दिया गया था, इसमें किसान वैद्यनाथ सिंह सहित कुछ अन्य किसान शामिल थे, सीज की हुई धान का उपार्जन ना होने से किसान वैद्यनाथ सिंह पेड़ पर चढ़कर आत्मदाह की धमकी दे रहे थे, जिन्हें समझाइश दी गई है कि जल्द ही उनके धान का उपार्जन करा लिया जाएगा.

    दोबारा प्रक्रिया शुरू होने पर धान उपार्जन करा लेंगे
    एसडीएम ने बताया कि दिनांक 16 जनवरी को धान उपार्जन बंद हो चुका, अब जैसे ही दोबारा यह प्रक्रिया शुरू होगी तो उनका धान उपार्जन करा लिया जाएगा, हालांकि जो किसान पेड़ पर चढ़े थे, वह सकुशल नीचे उतर आए हैं और मामले की पूरी जांच रिपोर्ट जिला कलेक्टर को सौंपी जाएगी.

    Tags: Madhya pradesh news, Satna news

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें