एकतरफा प्यार में महिला अफसर के पति की कर दी हत्या, 10 महीने बाद आरोपी SDO गिरफ्तार

अपने ही विभाग की महिला अफसर से एकतरफा प्यार में उसके पति अभिषेक सिंह की हत्या करने वाले एसडीओ प्रदीप सिंह को सतना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

Shivendra Singh Baghel | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 19, 2019, 4:57 PM IST
Shivendra Singh Baghel
Shivendra Singh Baghel | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 19, 2019, 4:57 PM IST
सतना शहर के हाई प्रोफाइल अभिषेक सिंह हत्याकांड के मुख्य आरोपी पीडब्लूडी के एसडीओ प्रदीप सिंह को पुलिस की गिरफ्तार कर लिया है. पिछले दस माह से प्रदीप पुलिस को चकमा देकर फरार चल रहा था. प्रदीप ने सतना में पदस्थापित आदिम जाति कल्याण विभाग के जिला प्रमुख अभिषेक सिंह की गला घोंटकर हत्या की थी और उसे आत्महत्या का शक्ल दे दिया था. प्रदीप ने जघन्य हत्याकांड को अंजाम आशिकी के चलते दिया था. प्रदीप अभिषेक की पत्नी ( पीडब्लूडी की कार्यपालक अभियंता है) से एक तरफा प्यार में पागल था.

गला घोंटकर की हत्या, दिया आत्महत्या का रंग
पिछले साल 13 अगस्त की रात अभिषेक सिंह की सतना के सिविल लाइन सरकारी बंगले में हत्या कर दी गई थी. सिविल लाइन जैसे सेफ जोन में स्थित सरकारी बंगले में अफसर की हत्या से पूरे प्रदेश में सनसनी फैल गई थी, वह बंगला जिला न्यायाधीश के मकान के बगल में था. इस हत्याकांड को आत्महत्या का रूप दिया गया था, अभिषेक को इंसुलिन के दर्जनों इन्जेक्शन लगाए गए थे ताकि मौत की वजह आत्महत्या साबित हो लेकिन अभिषेक के पिता ने सतना में पोस्टमार्टम न कराकर मेडिकल कॉलेज में शव का पोस्टमार्टम कराया. पीएम रिपोर्ट में गला घोंटकर हत्या करने का खुलासा हुआ.

शहडोल के शेर खान की गिरफ्तारी के बाद खुला राज

सतना पुलिस ने कुछ दिन बाद सुराग मिलने पर शहडोल के शेर खान नाम के युवक को गिरफ्तार किया. पूछताछ में मृत अभिषेक की पत्नी से तार जुड़े. शेर खान की गिरफ्तारी के बाद एसडीओ प्रदीप सिंह मुख्य आरोपी बना. जिसने आशिकी के चलते महिला अफसर के पति को मौत के घाट उतारने की साजिश रची. घटना के बाद शेर खान पुलिस के गिरफ्त में आ गया और सलाखों के पीछे पहुंच गया मगर प्रदीप सिंह फरार हो गया.

सतना पुलिस ने अभिषेक हत्याकांड का मुख्य आरोपी बनाते हुए प्रदीप सिंह को फरार घोषित कर 30 हजार का इनाम घोषित कर दिया. सतना पुलिस ने आखिरकार प्रदीप को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया. हालांकि आरोपी प्रदीप के स्तर से सरेंडर की बात सामने आई है. पुलिस प्रदीप को अदालत में पेश कर रिमांड पर लेगी और मामले में बयान दर्ज करेगी. अभिषेक की शादी 12 फरवरी 2018 को ही हुई थी. शादी के पांच माह बाद ही उसकी हत्या कर दी गई.

ये भी पढ़ें-
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...