• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • यहां काम-धंधा छोड़कर पानी की तलाश में भटक रहे हैं लोग

यहां काम-धंधा छोड़कर पानी की तलाश में भटक रहे हैं लोग

गांव के एक नल पर पानी आने का इंतजार करते लोग. फोटो-news18mp

गांव के एक नल पर पानी आने का इंतजार करते लोग. फोटो-news18mp

जिले की 692 पंचायतों में लगभग 600 पंचायतों में भीषण पेय जल संकट छाया हुआ है. जल स्रोत सूख चुके हैं और प्रशासन की ओर पानी उपलब्ध करवाने के दावे सिर्फ कागजी साबित हो रहे हैं.

  • Share this:
    मध्यप्रदेश का सतना जिला इन दिनों भीषण पेयजल संकट जूझ रहा है. यहां के लोगों को काम धंधा छोड़ पानी की तलाश में इधर-उधर भटकना पड़ा रहा है. जिले के ग्रामीण इलाकों में जलस्तर रसातल में पहुंच चुका है. हैंडपंपों में पानी नहीं आ रहा वहीं नदी और तालाब भी सूख गए हैं.ऐसे में लोग मीलों दूर चलकर पानी ला रहे हैं.

    जिले की 692 पंचायतों में लगभग 600 पंचायतों में भीषण पेय जल संकट छाया हुआ है. जल स्रोत सूख चुके हैं और प्रशासन की ओर पानी उपलब्ध करवाने के दावे सिर्फ कागजी साबित हो रहे हैं. कोई नदी तालाबों से पानी ला रहा तो कोई मीलो दूर से. ग्रामीण इलाकों की  बस्तियों के हैंडपंप सूख चुके और पानी सप्लाइ की टंकिया शो पीस बनी हुई हैं.

    जिले में पेयजल व्यवस्था के लिए जिम्मेदार विभाग इस समस्या के मामले में ज्यादा गंभीर नजर नहीं आ रहा. जिला पंचायत सीईओ की मानें तो कुछ पंचायतों में समस्या गंभीर है. लोगों को टैंकरों के माध्यम से पेयजल उपलब्ध करवाया जा रहा है. इस काम मे तीन एजेंसियां लगी हुई है और स्थानीय प्रशासनिक अधिकारी इस पर नजर रखे हुए हैं.

    बहरहाल जिले में मानसून जुलाई माह में दस्तक देता है. अभी मानसून आने में एक माह से भी अधिक समय बचा हुआ है. ऐसे में लोग के पास पानी के लिए परेशान होने के अलावा और कोई चारा नहीं है.

    (शिवेंद्र की रिपोर्ट)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज