होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /Satna: बारिश ने रावण दहन कार्यक्रम पर फेरा पानी, 'भीगे' पुतले में बालक ने लगाई आग

Satna: बारिश ने रावण दहन कार्यक्रम पर फेरा पानी, 'भीगे' पुतले में बालक ने लगाई आग

रावण के पुतले का दहन करता स्थानीय समाजसेवी का बालक।

रावण के पुतले का दहन करता स्थानीय समाजसेवी का बालक।

दशहरा के अवसर पर सतना के जवाहर नगर स्टेडियम में 35 फीट के रावण के पुतले को तैयार कराया गया था, रामलीला समाप्त होने के ब ...अधिक पढ़ें

    प्रदीप कश्यप

    सतना. मध्य प्रदेश के सतना में विजयदशमी के दिन बुधवार को सुबह से शाम तक रूक-रूक कर बारिश होती रही. इस वजह से हर वर्ष होने वाले रावण दहन कार्यक्रम पर ग्रहण लग गया. हर बार दशहरा पर भगवान राम के द्वारा रावण के पुतले का दहन किया जाता है, लेकिन सतना में इंद्रदेव ने इस परंपरा पर पानी फेर दिया. यहां के जवाहर नगर स्टेडियम में बनाये गये 35 फीट के रावण के पुतले को श्रीराम के हाथों नहीं जलाया जा सका. अंत में प्रशासनिक अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के जवाहर नगर स्टेडियम से रवाना होने के बाद समाजसेवी शिवा चतुर्वेदी के बेटे के द्वारा रावण के पुतले को आग लगाई गई.

    विजयदशमी पर राम ने अहंकारी रावण का वध किया था, इसलिये हर साल इस दिन सतना में भगवान राम जानकी की भव्य झांकी चल समारोह के माध्यम से निकाली जाती थी, लेकिन इस बार बारिश ने चल समारोह और दहन कार्यक्रम पर पानी फेर दिया. शहर के जवाहर नगर स्टेडियम में 35 फीट के रावण के पुतले को तैयार कराया गया था, रामलीला समाप्त होने के बाद रावण दहन किया जाना था, लेकिन बारिश की वजह से कार्यक्रम सिमट कर रह गया. चंद मिनटों के कार्यक्रम में भगवान राम ने रामलीला के दौरान रावण का वध किया और राम जानकी की पूजा के बाद ही कार्यक्रम का समापन कर दिया गया.

    रावण के पुतले का दहन राम जानकी के हाथों नहीं किया जा सका. कार्यक्रम समापन के बाद जवाहर नगर स्टेडियम से राम जानकी और प्रशासनिक अधिकारी एवं जनप्रतिनिधियों के जाने के बाद बारिश बंद हो जाने इंतजार किया गया. काफी देर बाद जब बारिश बंद हुई तब सतना के समाजसेवी शिवा चतुर्वेदी के बेटे दिवांकर चतुर्वेदी के हाथों रावण के पुतले का दहन कराया गया.

    Tags: Durga Puja festival, Dussehra Festival, Mp news, Satna news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें