आवारा पशुओं को खेत से खदेड़ते किसान का पैर फिसलने से जल समाधि

मामला रामनगर थाना अंतर्गत नौगांव का है. यह किसान खेत की रखवाली कर रहा था कि अचानक खेत नें आवारा पशु घुस आए. इन पशुओं को खदेड़ते वक्त किसान का पैर फिसल गया और खली छुई की खदान में उस किसान की जल समाधि हो गई.

Shivendra Singh Parmar | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 11, 2018, 6:57 PM IST
आवारा पशुओं को खेत से खदेड़ते किसान का पैर फिसलने से जल समाधि
छुही खदान में किसान की तैरती लाश
Shivendra Singh Parmar | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 11, 2018, 6:57 PM IST
सतना के रामनगर में उस वक्त हड़कंप मच गया जब शनिवार की सुबह छुही खदान में एक वृद्ध किसान की लाश तैरती हुई मिली.यह मामला रामनगर थाना अंतर्गत नौगांव का है. यह किसान खेत की रखवाली कर रहा था कि अचानक खेत नें आवारा पशु घुस आए. इन पशुओं को खदेड़ते वक्त किसान का पैर फिसल गया और खली छुई की खदान में उस किसान की जल समाधि हो गई.खदान में किसान की लाश मिलने पर पुलिस को सूचना दी गई.रामनगर थाना पुलिस ने लाश को कब्जे में लेकर पूरे मामले की जांच शुरू की और आसपास के खेतों में काम कर रहे किसानों के बयान लिए.आसपास के किसानों का कहना है कि छुई की खदान बरसात के मौसम में जानलेवा हो रही है.

मृत वृद्ध की शिनाख्त मंगल पांडेय किसान के रूप में हुई गई.मंगल पांडेय खदान के पास ही झोपड़ी बना कर खेत की रखवाली व वहां काम करता था.कल शाम खेत गया लेकिन वापस नहीं लौटा.शनिवार को किसान की लाश खुली खदान में तैरती मिली.किसान सेना से रिटायरमेंट होकर गांव में ही अपनी पुश्तैनी जमीन पर खेती करता था.खदान में बाउंड्री ना होने की वजह वृद्ध किसान का पैर फिसला और उसकी मौत हो गई. आसपास के किसानों का कहना है कि खदान जैतवारा निवासी रामचंद्र अग्रवाल की है.खदान में सुरक्षा के मापदंडों का पालन नहीं किया गया है.आए दिन इस खदान में गिर कर आवारा और उनके पालतू जानवरों की मौत हो रही है.इसी लापरवाही की वजह से इस किसान की मौत हो गई.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर