सीधी में धरना प्रदर्शन की अनुमति लेने गये कांग्रेस नेता के साथ SDM ने की अभद्रता, बोले- जेल भेजवा दूंगा

कांग्रेस नेता मीडिया के सामने अपनी बात को रखते हुये.
कांग्रेस नेता मीडिया के सामने अपनी बात को रखते हुये.

कांग्रेस नेता (Congress Leader) ने मझौली के एसडीएम (SDM) पर गाली-गलोज करने और झूठे केस में जेल (Jail) भेजवाने की धमकी देने का आरोप लगाया है. कांग्रेसी नेताओं की शिकायत पर अपर कलेक्टर ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 28, 2020, 6:21 PM IST
  • Share this:
सीधी. जिले में एक कांग्रेसी नेता (Congress leader) को एसडीएम (SDM) से धरना प्रदर्शन की  अनुमति मांगना महंगा पड़ गया है. एसडीएम में कांग्रेस के नेता की पहले तो खूब बेज्जती की इसके बाद उनको केस में फंसाकर जेल (Jail) भेजवाने की धमकी दी और दफ्तर से भगा दिया. कांग्रेस के ब्लॉक कांग्रेस महामंत्री एसडीएम कार्यालय में धरना प्रदर्शन करने की अनुमति लेने पहुंचे तो मझौली (एसडीएम) SDM ने कांग्रेस नेता से अभद्रता की और उनके साथ गाली-गलौज किया.

इसके बाद एसडीएम ने धमकी दी कि वह उसको  किसी झूठे केस में फंसाकर जेल भेजवा देंगे. इसके बाद दफ्तर से बाहर जाने को कहा दिया. इतना ही नहीं SDM ने कांग्रेस नेता को एक पत्र जारी कर पुलिस बल कम होने पर धरना प्रदर्शन की अनुमति देने से अपना पल्ला झाड़ लिया. वहीं कांग्रेस नेता के साथ हुई बर्बरता को लेकर कांग्रेस के अन्य नेताओं ने भाजपा सरकार में अफसरशाही हावी होने का आरोप लगाया है. साथ हा कांग्रेस नेताओं ने एसडीएम के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है. कांग्रेस नेताओं की शिकायत पर अपर कलेक्टर ने पूरे मामले में जांच के आदेश दिये हैं.

MP By Election 2020: बीजेपी नेता ने कांग्रेस के प्रत्याशी को दी धमकी, बोले- उठाकर खंडवा ले आऊंगा



सीधी के ब्लॉक कांग्रेस महामंत्री आनंद सिंह ने मझौली एसडीएम आनंद सिंह राजावत पर अभद्रता करने का आरोप लगाया है. उनकी मानें तो 23 अक्टूबर को धरना प्रदर्शन के लिए अनुमति लेने SDM कार्यलय मझौली पहुंचे थे, जहां एसडीएम आनंद सिंह राजावत ने अफसरशाही दिखाते हुए कांग्रेस नेता से अभद्रता कर गाली-गलौज की और पुलिस से पकड़वाने की धमकी दी.
कांग्रेस नेता को धरना प्रदर्शन की परमिशन दिए बगैर ही बाहर का रास्ता दिखा दिया. वहीं एसडीएम ने 24 अक्टूबर को कांग्रेस नेता को एक पत्र लिखकर पुलिस बल ना होने का हवाला देते हुए धरना प्रदर्शन की अनुमति देने से मना कर दिया था. कांग्रेस नेता का आरोप है कि बीजेपी सरकार में अफसरशाही हावी हो चुकी है धरना प्रदर्शन करना हमारा मौलिक अधिकार है, जिसे यहां बैठे अधिकारी छीन रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज