Home /News /madhya-pradesh /

राजधानी के संवेदनशील स्थानों की सुरक्षा भगवान भरोसे, MP पुलिस सवालों के घेरे में?

राजधानी के संवेदनशील स्थानों की सुरक्षा भगवान भरोसे, MP पुलिस सवालों के घेरे में?

भोपाल एयरपोर्ट पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. (फाइल फोटो)

भोपाल एयरपोर्ट पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. (फाइल फोटो)

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal) कितनी सुरक्षित है, ये एक बड़ा सवाल है. पिछले दिनों राजा भोज एयरपोर्ट पर हुई सेंधमारी के बाद प्रदेश पुलिस फिर से लोगों के निशाने पर आ गई है. बड़ा सवाल ये कि प्रदेश की सबसे संवेदनशील जगहों पर भी ऐसी स्थिति क्यों है? 

अधिक पढ़ें ...
भोपाल. हाल ही में कुछ ऐसी घटनाएं सामने आई हैं, जिनकी वजह से सवाल उठ रहा है कि मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल कितनी सुरक्षित है? क्योंकि इन घटनाओं को देखा जाए, तो न ही एयरपोर्ट (Airport) सुरक्षित है, न ही पुलिस मुख्यालय (Police Headquarter), न ही भोपाल कोर्ट, न ही सेंट्रल जेल (Central Jail), न ही रेलवे स्टेशन और न ही शहर की दूसरी सरकारी और महत्वपूर्ण इमारतें. दावे तमाम किए जाते हैं, लेकिन इन घटनाओं के बाद सभी दावों की पोल खुल जाती है.

एयरपोर्ट पर सेंधमारी से फिर उठा सुरक्षा का मुद्दा
भोपाल के राजाभोज एयरपोर्ट पर हुई सेंधमारी की घटना के बाद वहां की सुरक्षा पर सवाल खड़े हुए थे. आरोपी युवक आसानी से स्टेट हैंगर से एयरपोर्ट में दाखिल हुआ था. एयरपोर्ट की बाहरी सुरक्षा की जिम्मेदारी स्थानीय पुलिस की थी लेकिन पुलिस ने अपनी ज़िम्मेदारी ठीक तरीके से नहीं निभाई. एयरपोर्ट के अलावा खुद पुलिस मुख्यालय और भोपाल कोर्ट में भी ऐसी ही सेंधमारी की घटनाएं हो चुकी हैं.

>> केस नंबर-1
एयरपोर्ट में सेंधमारी कर युवक ने जमकर उत्पात मचाया. सुरक्षा में लापरवाही बरतने वाले थाना प्रभारी समेत पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई हुई.

>> केस नंबर-2
पुलिस मुख्यालय की छत पर कुछ लोगों ने जमकर हंगामा करते हुए सोलर पैनल में तोड़फोड़ की. जहांगीराबाद पुलिस ने केस दर्ज किया था.

>> केस नंबर-3
भोपाल कोर्ट में पेशी पर आए युवक पर पुरानी रंजिश के चलते कुछ लोगों ने चाकू से हमला किया था. कोर्ट के लॉकअप में भी कैदी कई बार कैदी आपस में भिड़ चुके हैं.

>> केस नंबर-4
भोपाल सेंट्रल जेल परिसर में मुलाकात के लिए आए युवक पर बदमाशों ने चाकू से हमला किया. इस हमले में युवक की मौत हो गई थी.

>> केस नंबर-5
भोपाल रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम नहीं है. एक युवक रेलवे स्टेशन में ओएचई लाइन पर खुद लटक गया. उसकी मौके पर ही मौत हो गई थी.

इन 5 मामलों से उठ रहे सवाल
राजधानी के भोपाल और हबीबगंज रेलवे स्टेशन की सुरक्षा व्यवस्था भी भगवान भरोसे है. यहां भी मेन गेट से लेकर उसके आसपास तक, कहीं भी सुरक्षा के इंतजाम नहीं है. न्यूज 18 ने हबीबगंज रेलवे स्टेशन का जायजा लिया, तो वहां भी सब भगवान भरोसे नजर आया. मेन गेट पर कोई भी पुलिसकर्मी तैनात नहीं था. पार्किंग में वसूली के लिए व्यवस्था ज़रूर है, लेकिन सुरक्षा के मद्देनजर कोई व्यवस्था नहीं है. कहने को जीआरपी और आरपीएफ जवान तैनात रहते हैं, लेकिन जब हजारों यात्री ट्रेन से निकलते हैं, तो सुरक्षा में एक भी जवान तैनात नहीं नजर आता है.

पेट्रोलिंग से रखी जाती है नजर
एडमिशन एसपी मनु व्यास का कहना है कि चिन्हित स्थानों पर पुलिस की टीमें जाती हैं. संदिग्ध लोगों की तलाश कर उनसे पूछताछ की जाती है और कई बार कार्रवाई भी होती है. स्थानीय स्तर पर पेट्रोलिंग की व्यवस्था भी है. उन्होंने कहा कि सुरक्षा के लिहाज से रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड के साथ चिन्हित भवनों के आसपास नियमित चेकिंग की व्यवस्था है.

हाईटेक तरीके से होनी चाहिए सुरक्षा
रिटायर्ड डीजीपी आरएलएस यादव का कहना है कि फोर्स की कमी की वजह से पुलिस हर जगह पहुंचे, ऐसा संभव नहीं हो पाता, ऐसे में पुलिस को हाईटेक तरीके से सुरक्षा पर नजर रखनी होगी. ज्यादा से ज्यादा सीसीटीवी सर्विलांस और मुखबिर तंत्र का इस्तेमाल करना होगा. सभी महत्वपूर्ण भवनों और पब्लिक प्लेस की सुरक्षा करने की जिम्मेदारी पुलिस पर ही होती है. पुलिस अधिकारियों को तकनीक का सहारा लेने की जरूरत है.

ये भी पढ़ें -
CAA के मुद्दे पर शायर राहत इंदौरी ने PM मोदी पर कसा तंज, अपने 'शेर' को लेकर जताई नाराजगी
MP के खाली खजाने पर एक और चोट, इन कंपनियों को हुआ इतने हज़ार करोड़ का घाटा

Tags: Bhopal news, Central Jail, Madhya pradesh news, Madhya pradesh Police

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर