लाइव टीवी

अपने घायल बच्‍चे को लेकर अस्‍पताल पहुंची बंदरिया, स्‍टाफ की आंखें हो गईं नम

Pradeep Singh Chouhan | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 6, 2019, 8:28 AM IST
अपने घायल बच्‍चे को लेकर अस्‍पताल पहुंची बंदरिया, स्‍टाफ की आंखें हो गईं नम
बेजुबान ने दिखाई गजब की संवेदना.

सीहोर के जिला पशु अस्पताल (District Animal Hospital) में जब एक बंदरिया (Female Monkey) अपने घायल बच्‍चे को लेकर पहुंची तो वहां मौजूद हर इंसान की आंखें नम हो गईं...

  • Share this:
सीहोर. हम सभी इंसानों की इंसानियत के किस्से अक्सर सुनते और देखते आए हैं, लेकिन जानवरों की इंसानियत का एक अजीबोगरीब किस्सा सीहोर (Sehore) में देखने को मिला है. जी हां, जिला पशु अस्पताल (District Animal Hospital) में जब एक बंदरिया (Female Monkey) अपने घायल बच्‍चे को लेकर पहुंची तो वहां मौजूद हर इंसान की आंखें नम हो गईं. हालांकि डॉक्‍टर्स (Doctors) ने जब उस बच्‍चे की जांच की तो वह मर चुका था.

बच्चे को लेकर पहुंची जिला पशु अस्पताल
दरअसल, सीहोर शहर की पुरानी जेल की दीवार के पास से बिजली की 11 केवी की लाइन गुजरती है. इस लाइन की जड़ से लगे पेड़ों के झुरमुट पर मस्ती कर रहे बंदरों के एक समूह के साथ एक हादसा हो गया. बंदर का एक बच्चा झूलती डाल से इस लाइन की चपेट में आया और तत्काल झुलस कर नीचे जमीन पर गिर गया. हालांकि तत्काल इस बच्चे की मां उसे घटनास्थल से कुछ ही दूरी पर मौजूद जिला चिकित्सालय में ले आई. इस बेजुबान ने गजब की संवेदना दिखाई और गोदी में भरे अपने बच्चे को लेकर जिला पशु चिकित्सालय के मुख्य द्वार पर बैठकर कातर निगाहों से हर आने जाने वाले को अपनी मूक भाषा में कहती रही कि कोई इसका इलाज करो, इसके प्राण बचाओ. जबकि इस बीच बंदरिया हर पास आने वाले को गुस्सा भी दिखाती रही.

डॉक्‍टर्स ने किया ये काम

जिला पशु अस्पताल का स्‍टाफ भी बंदरिया की इस हरकत को देखकर अपनी आंखों से आंसू नहीं रोक पाया. हालांकि जैसे-तैसे डॉक्‍टर्स ने इस बच्चे के शव का परीक्षण किया, लेकिन तब तक बंदरिया का बच्चा मर चुका है. इसके बाद फिर बंदरिया अपने मृत बच्चे को लेकर अपने समूह में चली गई और वहां मौजूद हर शख्‍स उसकी इस हरकत को निहार रहा था.

ये भी पढ़ें-
आर्थिक तंगी की मार झेल रही MP सरकार फिर लेगी 1000 करोड़ का कर्ज!
Loading...

बेसहारा बच्‍चों का 'पिता' बन भविष्य संवारेंगे CM कमलनाथ, BJP ने सरकार पर कसा तंज

ये हैं खंडवा के मुसद्दी लाल, 12 साल से इंसाफ के लिए अधिकारियों के काट रहे हैं चक्‍कर!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सीहोर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 8:09 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...