भीषण आग लगने से 70 लाख की लकड़ी जलकर राख, पीड़ित परिवार को ढाढस देने पहुंचीं साध्वी प्रज्ञा

सीहोर में शुक्रवार देर रात लकड़ि‍यों के टाल में भीषण आग लग गई. साध्‍वी प्रज्ञा ठाकुर ने मौके पर पहुंच कर लोगों को ढाढस बंधाया.

News18 Madhya Pradesh
Updated: May 25, 2019, 9:11 AM IST
News18 Madhya Pradesh
Updated: May 25, 2019, 9:11 AM IST
मध्‍य प्रदेश के सीहोर की घनी आबादी वाले मंडी क्षेत्र में स्थित इमारती लकड़ियों की टाल में शुक्रवार देर रात लगी आग ने भीषण तांडव मचाया. तेज हवा के चलते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया. इसके चलते आसपास के इलाके भी गिरफ्त में आ गए. बताया जाता है कि लगभग 70 लाख रुपए मूल्‍य की इमारती लकड़ी जलकर राख के ढेर में तब्दील हो गई. प्रशासन की लापरवाही के चलते लगभग डेढ़ घंटे के बाद भोपाल से आई लगभग आधा दर्जन फायर ब्रिगेड की गाड़ियों ने कड़ी मशक्कत के बाद लगभग 2 घंटे में इस आग पर काबू पाया. घटना की सूचना के बाद भोपाल से सांसद बनीं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने घटना स्थल का निरीक्षण किया और पीड़ित परिवार को ढाढस बंधाया.

आग लगने के कारणों का पता नहीं चल सका है. लकड़ि‍यों का यह टाल तकरीबन 2 एकड़ के क्षेत्र में फैला था. आग लगने की घटना में यह पूरी तरह से खाक हो गया. एक मंजिला मकान भी पूरी तरह से तबाह हो गया. तेज तेज हवा के कारण आसपास के इलाके भी इसकी चपेट में आ गए, जिसके कारण नुकसान काफी ज्‍यादा हुआ है. आग की भयावहता को इसी से समझा जा सकता है कि घटनास्‍थल के आसपास रहने वाले लोगों को घर का सामान निकाल कर सुरक्षित जगहों पर जाना पड़ा. इस दौरान स्‍थानीय प्रशासन की लापरवाही भी सामने आई. तकरीबन डेढ़ घंटे के बाद भोपाल से आई लगभग आधा दर्जन फायर ब्रिगेड की गाड़ियों की मदद से आग को बुझाया जा सका. लोगों ने आशंका जाहिर किया कि टाल के पास से बारात निकल रही थी, ऐसे में हो सकता है कि आतिशबाजी के चलते आग लगी हो.



घटना की सूचना के बाद भोपाल लोकसभा सीट से निर्वाचित साध्वी प्रज्ञा ठाकुर घटनास्थल पर पहुंचीं और और पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाया. उन्होंने कहा कि सूचना मिलते ही वह तत्काल भोपाल से रवाना हो गई थीं. साथ ही कहा कि पीड़ित परिवार को सरकारी स्तर पर पूरी मदद की जाएगी.

इस हादसे की सूचना के बाद घटना स्थल पर भरी पुलिस बल तैनात किया गया. हालांकि, प्रशासन का कोई बड़ा अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा. हादसे को लेकर पुलिस प्रशासन ने बताया की प्रभावित लोगों की पूरी मदद की गई. भोपाल से फायर ब्रिगेड भी बुलाई गई. वहीं, प्रभावित लोगों का मानना है कि अगर सही समय पर अग्निशमन का दस्‍ता आ गया होता तो आग को ज्‍यादा फैलने से पहले ही नियंत्रित किया जा सकता था.

( सीहोर से प्रदीप एस चौहान की रिपोर्ट )

यह भी पढ़ें- सीहोर: आग लगने से विवाहिता की मौत, भाई ने लगाया साजिश का आरोप

यह भी पढ़ें-MP: खेत में लगी आग के चपेट में आए कई गांव, हजारों एकड़ फसल बर्बाद, 3 की मौत
Loading...

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...