पुराने हादसों से कोई सबक नहीं, ड्राइवर ने फिर स्कूली बच्चों की जान खतरे में डाली

स्कूल बस के ड्राइवर को भी लोगों ने पानी से भरे पुल को पार न करने की हिदायत दी. बस ड्राइवर ने सभी लोगों की अनसुनी करते हुए स्कूल बस इस पुल से निकाल ही दी.

News18 Madhya Pradesh
Updated: August 9, 2019, 3:51 PM IST
News18 Madhya Pradesh
Updated: August 9, 2019, 3:51 PM IST
मध्य प्रदेश में लगातार हो रही बारिश के चलते नदी नाले उफान पर हैं. लगातार हो रही दुर्घटनाओं के बावजूद लोग सबक लेने को तैयार नहीं हैं. ऐसा ही नज़ारा सीहोर जिले के रातीबढ़ रोड में देखने को मिला. यहां बमुलिया गांव के पास कुलांस नदी उफन रही थी. पानी पुल से 2-3 फीट ऊपर बह रहा था. तभी यहां स्कूली बच्चों से भरी एक बस पहुंची. पानी के बहाव को देखकर कोई भी इस पुल को पार नहीं कर रहा था, लिहाजा स्कूल बस के ड्राइवर को भी लोगों ने पानी से भरे पुल को पार न करने की हिदायत दी. लेकिन बस ड्राइवर ने सभी लोगों की अनसुनी करते हुए बस इस पुल से निकाल ही दी.

हाल ही में मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले से भी इसी तरह का एक वीडियो सामने आया था. वीडियो में साफ दिखाई दे रहा था कि किस तरह से ड्राइवर ने उफनते पानी में बस को उतारकर बच्चों की जान खतरे में डाल दी.

नदी के प्रवाह में पुल-पुलिया से कई वाहनें बह चुकी हैं

school bus crossing overflowing bridge sehore
लापरवाह लोगों को न तो प्रशासन के निर्देशों की चिंता है और न ही बच्चों की जान की.


पूरे प्रदेश से लगातार ऐसी घटनाएं सुनने को मिल रही हैं. नदी के प्रवाह में पुल-पुलिया से वाहनों के बह जाने से कई जानें जा चुकी हैं. 4 दिन पूर्व ही बैतूल जिले के सारणी में एक बस बरसात के पानी में बह गई थी. गनीमत थी कि जिस वक्त ये हादसा हुआ उस वक्त बस में बच्चे मौजूद नहीं थे. प्रशासन ने भी इस संबंध में स्कूल प्रबंधन को कड़े दिशा-निर्देश दिए हैं. लेकिन इस तरह की घटनाओं से साफ है कि लापरवाह लोगों को न तो प्रशासन के निर्देशों की चिंता है और न ही बच्चों की जान की.

(सीहोर से प्रदीप चौहान की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें - जान जोखिम में डाल उफनती नदियां पार कर रही स्कूली बच्चियां
Loading...

ये भी पढ़ें - MP:नदी में डूब रही महिला को बचाने कूदे दो युवक, एक लापता
First published: August 9, 2019, 3:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...