Assembly Banner 2021

एक ही बारिश में बह गई 5.38 करोड़ से बनी नहर

इस तरह बह गई 5.38 करोड़ से बनी नहर

इस तरह बह गई 5.38 करोड़ से बनी नहर

सिवनी के केवलारी में पहली बारिश ने नहर निर्माण कार्य में किए गए भ्रष्टाचार को उजागर कर दिया. लगभग 5.38 करोड़ की लागत से बनी नहर पहली बारिश में ही बह गई.

  • Share this:
सिवनी के केवलारी में पहली बारिश ने नहर निर्माण कार्य में किए गए भ्रष्टाचार को उजागर कर दिया है.आरोप है कि कमीशन के चक्कर में अधिकारियों और कर्मचारियों ने ठेकेदार से सांठगांठ गुणवत्ता विहीन नहर का निर्माण कार्य करा दिया गया जो मौसम की पहली ही बारिश नही झेल पाई है और जगह जगह से क्षतिग्रस्त हो गई है.यह मामला केवलारी तहसील का है जहां पर किसानों की 2427 हेक्टयर जमीन की सिंचाई के लिए शासन ने मार्च 2018 में ग्राम सुझरी से ग्राम बक्शी तक 22.38 किमी नहर का कंक्रीटकरण का कार्य कराया.

इसकी अनुमानित लागत लगभग 5.38 करोड़ बताई जा रही है.उक्त कार्य का ठेका पिंडरई जिला मंडला निवासी जेनुल आबेदीन को दिया गया.ठेकेदार के द्वारा जिम्मेदार अधिकारियों से सांठगांठ कर नियमों को अनदेखा कर धड़ल्ले से गुणवत्ता विहीन निर्माण कार्य किया गया. अाज इसका नतीजा ही है कि छः महीने में ही नहर एक बारिश नहीं झेल पाई और नहर का कंक्रीट पानी के साथ ढह गई है.

एक नहीं बल्कि कई स्थान पर से नहर इस तरह क्षतिग्रस्त हो गई है. वहीं जब इस मामले में संबंधित उपयंत्री डीपी नावरे से बात की गई तो उन्होंने ठेकेदार का पक्ष लेते हुए कहा कि नहर का निर्माण कार्य गुणवत्तापूर्ण किया गया है किन्तु तेज बारिश के कारण नहर का कंक्रीट बह गया है.वहीं जब कार्यपालन यंत्री प्रवीण चंद महाजन से इस मामले पर बात की गई तो उन्होंने नहर के निर्माण की गुणवत्ता की जांच करा कर क्षतिग्रस्त नहर को दुरस्त कराने की बात कही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज