अपना शहर चुनें

States

पुरुष डॉक्टरों के भरोसे महज औपचारिकता बने महिला स्वास्थ्य शिविर

मध्य प्रदेश के सिवनी में ग्राम उदय से भारत उदय कार्यक्रम के तहत ग्रामीण इलाकों में लगने वाले महिला स्वास्थ्य ​शिविर महज औपचारिकता बन कर रह गए हैं. शासन के निर्देशों के बावजूद शिविर में एमबीबीएस महिला डॉक्टर नदारद हैं.ऐसे में यह शिविर पुरुश आयुष डॉक्टरों के भरोसे चल रहे हैं.
मध्य प्रदेश के सिवनी में ग्राम उदय से भारत उदय कार्यक्रम के तहत ग्रामीण इलाकों में लगने वाले महिला स्वास्थ्य ​शिविर महज औपचारिकता बन कर रह गए हैं. शासन के निर्देशों के बावजूद शिविर में एमबीबीएस महिला डॉक्टर नदारद हैं.ऐसे में यह शिविर पुरुश आयुष डॉक्टरों के भरोसे चल रहे हैं.

मध्य प्रदेश के सिवनी में ग्राम उदय से भारत उदय कार्यक्रम के तहत ग्रामीण इलाकों में लगने वाले महिला स्वास्थ्य ​शिविर महज औपचारिकता बन कर रह गए हैं. शासन के निर्देशों के बावजूद शिविर में एमबीबीएस महिला डॉक्टर नदारद हैं.ऐसे में यह शिविर पुरुश आयुष डॉक्टरों के भरोसे चल रहे हैं.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के सिवनी में ग्राम उदय से भारत उदय कार्यक्रम के तहत ग्रामीण इलाकों में लगने वाले महिला स्वास्थ्य ​शिविर महज औपचारिकता बन कर रह गए हैं. शासन के निर्देशों के बावजूद शिविर में एमबीबीएस महिला डॉक्टर नदारद हैं.ऐसे में यह शिविर पुरुष आयुष डॉक्टरों के भरोसे चल रहे हैं.

जानकारी के अनुसार प्रदेश सरकार ने ग्राम उदय भारत उदय कार्यक्रम के तहत प्रत्येक जिले के ग्रामीण इलाकों में महिला स्वास्थ्य शिविर आयोजित करने के निर्देश दिए हैं. इन शिविरों में जिले में पदस्थ महिला एमबीबीएस डॉक्टरों की उपस्थिति अनिवार्य है. लेकिन सिवनी जिले में ज्यादातर महिला डॉक्टरों ने इन शिविरों से दूरी बना रखी है. ऐसे में संविदा आयुष डॉक्टरों से सामंजस्य बनाकर इन ​शिविरों में तैनाती की गई है.

शिविर में ग्रामीण महिलाएं पुरुष डॉक्टरों के सामने अपनी समस्याएं बताने में शर्म और झिझक महसूस कर रही हैं. ऐसे में इन शिविरों की सफलता पर सवालिया निशान लग गया है. इस बारे में अधिकारियों का कहना है कि जिले में महिला एमबीबीएस डॉक्टरों की कमी के चलते पुरुष डॉक्टरों को तैनात किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज