Home /News /madhya-pradesh /

Interesting Video : सिवनी में लोगों ने पूरे सम्मान के साथ निकाली 'नंदी बाबा' की शव यात्रा

Interesting Video : सिवनी में लोगों ने पूरे सम्मान के साथ निकाली 'नंदी बाबा' की शव यात्रा

 सांड करीब 10 साल का था और एक हफ्ते पहले सड़क दुर्घटना में गम्भीर रूप से घायल हो गया था.

सांड करीब 10 साल का था और एक हफ्ते पहले सड़क दुर्घटना में गम्भीर रूप से घायल हो गया था.

Seoni News: अंतिम यात्रा श्मशान में पहुंचने के बाद जेसीबी की मदद से गढ्ढा किया गया और फिर उसमें सांड के शव को दफना दिया गया. अंतिम यात्रा में सांड को श्रद्धा सुमन अर्पित करने कई स्थानीय बुजुर्ग, युवा, महिलाएं और बच्चे भी शामिल हुए.

अधिक पढ़ें ...

    सिवनी. सिवनी (Seoni) में एक सांड की शव यात्रा निकाली गयी. इसमें इलाके के लोग शामिल हुए. भजन-कीर्तन गाते हुए लोगों ने सांड को अंतिम विदाई और अपनी श्रद्धांजलि दी. स्थानीय लोग इसे शिव की सवारी मानकर नंदी बाबा कहते थे. ये भी किसी को नुकसान नहीं पहुंचाता था बल्कि लोगों से काफी घुल मिल गया था. सिवनी जिले के गणेश गंज गांव में एक हैरान करने वाला वाकया सामने आया है. यहां एक सांड की मौत हो जाने के बाद लोगों ने उसकी अंतिम यात्रा निकाली. शव यात्रा में बड़ी संख्या में स्थानीय लोग शामिल हुए.

    बताया जा रहा है यह सांड स्थानीय लोगों में काफी लोकप्रिय था. गणेशगंज इलाके में 6 साल से यहां की रिहायशी बस्ती में लोगों के बीच रह रहा था. स्थानीय लोग इस सांड को शिव की सवारी नंदी का प्रतीक मानते थे. उसे वो नंदी बाबा कहकर बुलाते थे और अपनी आस्था रखते थे. सांड करीब 10 साल का था और एक हफ्ते पहले सड़क दुर्घटना में गम्भीर रूप से घायल हो गया था.

    घायल नंदी बाबा को फौरन पशु चिकित्सकों को दिखाया गया. लोगों ने पशु चिकित्सक की मदद से इलाज कराया और खुद भी इसकी खूब सेवा की. लेकिन सांड की जिंदगी नहीं बच पाई. उसकी मौत हो गयी. उसकी मौत से सब दुखी हो गए. सांड के प्रति अपनी आस्था को कायम रखते हुए लोगों ने पूरे विधि विधान के साथ उसका अंतिम संस्कार करने का फैसला लिया. फिर सभी ग्रामीणों ने इकट्ठा होकर ट्रैक्टर में सांड के शव को रख कर उसकी अंतिम यात्रा निकाली. शव यात्रा में शामिल लोग भगवान का भजन-कीर्तन करते चल रहे थे. यह अंतिम यात्रा गांव के जिस रास्ते से निकली लोगों ने नन्दी बाबा को हाथ जोड़कर नमन किया.

    सबने दी श्रद्धांजलि
    अंतिम यात्रा श्मशान में पहुंचने के बाद जेसीबी की मदद से गढ्ढा किया गया और फिर उसमें सांड के शव को दफना दिया गया. अंतिम यात्रा में सांड को श्रद्धा सुमन अर्पित करने कई स्थानीय बुजुर्ग, युवा, महिलाएं और बच्चे भी शामिल हुए.

    Tags: Bull in bedroom, Funeral, Madhya pradesh news, Seoni news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर