अपना शहर चुनें

States

सिवनी का जिला अस्पताल हुआ बीमार

मध्य प्रदेश के सिवनी का जिला अस्पताल इन दिनों बेहद बीमार है. कहने को तो ये अस्पताल आईएसओ सर्टिफाइड है, लेकिन सुविधाओं के नाम पर अस्पताल शून्य ही नजर आ रहा है.
मध्य प्रदेश के सिवनी का जिला अस्पताल इन दिनों बेहद बीमार है. कहने को तो ये अस्पताल आईएसओ सर्टिफाइड है, लेकिन सुविधाओं के नाम पर अस्पताल शून्य ही नजर आ रहा है.

मध्य प्रदेश के सिवनी का जिला अस्पताल इन दिनों बेहद बीमार है. कहने को तो ये अस्पताल आईएसओ सर्टिफाइड है, लेकिन सुविधाओं के नाम पर अस्पताल शून्य ही नजर आ रहा है.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के सिवनी का जिला अस्पताल इन दिनों बेहद बीमार है. कहने को तो ये अस्पताल आईएसओ सर्टिफाइड है, लेकिन सुविधाओं के नाम पर अस्पताल शून्य ही नजर आ रहा है. अस्पताल में डॉक्टरों की संख्या आवश्यकता से काफी कम है,  उसपर सुविधाओं की कमी समस्या और भी जटिल बना रही है.

अस्तपाल की एक्स रे मशीन काफी समय से खराब पड़ी है और इसे सुधरवाने की ओर किसी का ध्यान नहीं है. ऐसे में गरीब मरीजों को एक्स रे लिए बाहर का रुख करना पड़ रहा है. अस्पताल की पैथालॉजी लैब में थायराइड जांच की मशीन भी खराब पड़ी है. जाहिर है कि अस्पताल में थाइराइड जांच बंद है और गरीब मरीजों को इसके लिये भी अपनी जेब ढीली करनी पड़ रही है.

ये हालात तब है जब केन्द्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते मध्य प्रदेश के इसी इलाके से आते हैं. मध्य प्रदेश के स्वास्थ राज्यमंत्री शरद जैन सिवनी जिले के प्रभारी मंत्री भी हैं. जब केन्द्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते से अस्पताल की बदहाली संबंध में सवाल पूछा गया, तो उन्होंने ये कहकर मामले को टाल दिया कि जिला अस्पताल में व्यवस्थाओं की जिम्मेदारी राज्य सरकार की है.



अस्पताल प्रबंधन जल्द ही व्यवस्थाओं को चुस्त दुरुस्त करने की बात कह रहा है. अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि एक्स रे मशीन और थाइराइड जांच की मशीन को सुधरवाने का प्रयास किया जा रहा है. उम्मीद है कि जल्द ही सिवनी के लोगों को फिर से इस सुविधा का लाभ मिल सकेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज