अपना शहर चुनें

States

खनिज माफियाओं ने गांव के नजदीक बनाई खदान,धमाकों से दहशत

खदान के धमाके से इस बच्चे के दिल की बिगड़ी हालत तो करानी पड़ी हार्ट सर्जरी
खदान के धमाके से इस बच्चे के दिल की बिगड़ी हालत तो करानी पड़ी हार्ट सर्जरी

सिवनी कुरई ब्लॉक अंतर्गत चारगांव के नजदीक खनिज माफियाओं ने नियमों और कानून को ताख में रखकर कर पत्थर निकालने के लिए एक खदान बना दी गई है. आए दिन खनिज ठेकेदार पत्थर निकालने के लिए खदान में ब्लास्टिंग करते रहते हैं. इससे ग्रामीणों में दहशत है.

  • Share this:
सिवनी के कुरई ब्लॉक अंतर्गत चारगांव के नजदीक खनिज माफियाओं ने नियमों और कानून को ताख में रखकर कर पत्थर निकालने के लिए एक खदान बना दी गई है. आए दिन खनिज ठेकेदार पत्थर निकालने के लिए खदान में ब्लास्टिंग करते रहते हैं. ब्लास्टिंग से ग्रामीणों के मकानों और स्कूल भवन को नुकसान पहुंचा है. धमाकों से मकानों में दरारें आ गई हैं. वहीं ग्रामीणों ने धमाकों की दहशत के कारण अपने बच्चों को स्कूल ही भेजना बन्द कर दिया है.

ग्रामीणों ने बताया कि चारगांव से महज 500 मीटर की दूरी पर इमरान कुरैशी नाम के ठेकेदार द्वारा यह ब्लास्टिंग कराई जा रही है. ग्रामीण हैरान हैं कि खनिज विभाग ने गांव के इतने नजदीक खदान की लीज आखिर कैसे दे दी. ग्रामीणों का कहना है कि खनिज ठेकेदार द्वारा दिन में कभी भी खदान में ब्लास्टिंग करा दी जाती है जिससे ग्रामीणो को हर पर जान का खतरा महसूस होता रहता है. ग्रामीण इस बात का विरोध करते हुए शिकायत अधिकारियों से कर चुके हैं लेकिन हैरानी की बात यह है कि पुलिस द्वारा विरोध कर रहे ग्रामीणों के ऊपर शांति भंग करने की कार्रवाई कर दी गई है.

यही नहीं ब्लास्टिंग में अन्य मकानों की तरह स्कूल के भवन को भी नुकसान पहुंचा है और बिल्डिंग में दरारें आ गई हैं. ग्रामीणों ने बताया कि एक दिन आकाश नाम के बच्चा स्कूल गया था तभी अचानक ब्लास्टिंग हुई तो बच्चे के दिल पर ब्लास्टिंग का असर पड़ गया और बच्चे को नागपुर ले जाना पड़ा. नागपुर में ले जाने के बाद बच्चे के दिल की सर्जरी करानी पड़ गई जिसके कारण परिजनों ने बच्चों को स्कूल भेजना बन्द कर दिया है. इस कारण स्कूल के गेट पर ताला लगाना पड़ गया है. बहरहाल स्कूल के शिक्षकों के समझाने पर सुरक्षा की दृष्टि से गांव के अंतिम छोर पर बने एक निजी मकान पर बच्चों का स्कूल लगाया जा रहा है. गांव में फैली इस समस्या को लेकर ग्रामीण कलेक्टर से लेकर जनपद सिवनी के शिक्षा केन्द्र अधिकारी से इस बात की शिकायत कर चुके हैं लेकिन अब तक खनिज माफियाओ पर शिकंजा कसा नहीं जा सका है. वहीं हर रोज कि तरह ग्रामीणों में दहशत बरकरार है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज