अपना शहर चुनें

States

इस छात्रा को शिक्षा के लिए है मदद की दरकार

रंजना आगे पढ़ना चाहती है और उसका सपना शिक्षक बनना है.
रंजना आगे पढ़ना चाहती है और उसका सपना शिक्षक बनना है.

रंजना आगे पढ़ना चाहती है और उसका सपना शिक्षक बनना है.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के सिवनी में एक गरीब छात्रा को अपनी पढ़ाई के लिए सरकार से मदद की दरकार है.छात्रा का नाम रंजना कासिया है.

रंजना के पिता की मौत के बाद उसकी मां ने दूसरी शादी कर ली. जिसके चलते रंजना अपने बुआ के घर रहती है. पिता के जिंदा रहते रंजना ने किसी तरह 12वीं पास कर ली.लेकिन अब कॉलेज की पढ़ाई के लिए उसके सारे रास्ते पैसों ने बंद कर दिए हैं. रंजना की बुआ ने उसकी पढ़ाई के लिए कई संस्थान के चक्कर काट चुकी है.लेकिन उसकी मदद के लिए कोई आगे नहीं आता है.जिसके बाद अब छात्रा ने प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है.

छात्रा रंजना का कहना है कि वह आगे पढ़ना चाहती है और उसका सपना शिक्षक बनना है.लेकिन सवाल ये है कि क्या रंजना का सपना पूरा होगा?



इस मुद्दे को लेकर रंजना ने मंगलवार को कलेक्टर गोपाल डाड से भी अपील की है. जिससे उसकी पढ़ाई आगे जारी हो सके.
लेकिन बड़ा सवाल बना हुआ है कि वैसे तो समाज में समाजिक कल्याण के लिए कई संस्थाएं बनाई गई है. लेकिन जब असल मदद की बात आती है तो मदद क्यों नहीं मिलती ?.गरीब को चक्कर ही क्यों लगाना पड़ता है? फिलहाल रंजना ने इन संस्थाओं के लिए सवाल छोड़ दिया है कि आखिर इनके समाजिक कल्याण के लिए बने एनजीओ को मिलते चंदे किस काम के हैं?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज