Assembly Banner 2021

दो-दो स्वास्थ मंत्री जिले की कमान सम्भाल रहे हैं फिर भी दयनीय हैं स्वास्थ सेवाएं

मध्य प्रदेश के सिवनी जिला अस्पताल में स्वास्थ सेवाए पूरी तरह से ठप पड़ी हुई हैं. कहने को सिवनी जिला अस्पताल आई एस ओ सर्टिफाइड है लेकिन जिला अस्पताल में असुविधाओ का जैसे अम्बार लगा है. अस्पताल में गिनती भर के डाक्टर हैं.

मध्य प्रदेश के सिवनी जिला अस्पताल में स्वास्थ सेवाए पूरी तरह से ठप पड़ी हुई हैं. कहने को सिवनी जिला अस्पताल आई एस ओ सर्टिफाइड है लेकिन जिला अस्पताल में असुविधाओ का जैसे अम्बार लगा है. अस्पताल में गिनती भर के डाक्टर हैं.

मध्य प्रदेश के सिवनी जिला अस्पताल में स्वास्थ सेवाए पूरी तरह से ठप पड़ी हुई हैं. कहने को सिवनी जिला अस्पताल आई एस ओ सर्टिफाइड है लेकिन जिला अस्पताल में असुविधाओ का जैसे अम्बार लगा है. अस्पताल में गिनती भर के डाक्टर हैं.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के सिवनी जिला अस्पताल में स्वास्थ सेवाए पूरी तरह से ठप पड़ी हुई हैं. कहने को सिवनी जिला अस्पताल आई एस ओ सर्टिफाइड है लेकिन जिला अस्पताल में असुविधाओ का जैसे अम्बार लगा है. अस्पताल में गिनती भर के डाक्टर हैं.

अस्पताल में आने वाले मरीजो का इलाज जैसे भगवान भरोसे चल रहा है. अस्पताल में गरीब हितग्राहियों को तो सुविधा के नाम पर केवल ओ पी डी की पर्ची मिल रही है. लेकिन इलाज के लिए किए जाने वाली जाँच के लिए जिन मशीनों का उपयोग होना है वह महीनों से खराब पड़ी हुई है.

सालों से चली आ रही एक्सरे मशीन ख़राब हो जाने के कारण बंद हो गई है. मरीजों को बाहर से अपना एक्सरे कराना पड़ रहा है. जिला अस्पताल की पैथोलोजी लेब में थायराइड चेक करने की मशीन खराब होने के बाद वह अभी भी बंद पड़ा है. थायराइड मशीन बंद होने का असर जिला अस्पताल में आने वाली प्रसूताओ पर पड़ रहा है.



जिले की कमान मंडला सिवनी सांसद और केन्द्रीय स्वास्थ मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते और प्रभारी और स्वास्थ राज्य मंत्री शरद जैन सम्भाले हुए हैं. लेकिन जिले की स्वास्थ व्यवस्थाएं पर ध्यान देना जरुरी नही समझ रहे हैं.
केन्द्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते का कहना है कि जिले की स्वास्थ सेवाओं का जिम्मा राज्य सरकार का होता है. देख रेख और कंट्रोल राज्य सरकार करती है, वह केवल आर्थिक मदद करने का काम करते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज