लाइव टीवी

शहडोल लोकसभा सीट: यहां बराबरी का रहा है मुकाबला, अब किसका नंबर?

News18 Madhya Pradesh
Updated: May 14, 2019, 10:42 PM IST
शहडोल लोकसभा सीट: यहां बराबरी का रहा है मुकाबला, अब किसका नंबर?
हिमाद्री सिंह (File Photo)

इस सीट पर 5 बार बीजेपी तो 7 बार कांग्रेस को जीत मिली है. साल 1996, 1998, 1999 और 2004 के चुनाव में बीजेपी को यहां पर लगातार जीत मिली थी

  • Share this:
मध्य प्रदेश की शहडोल लोकसभा सीट अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवार के लिए आरक्षित है. इस सीट पर बीजेपी के ज्ञान सिंह सांसद हैं. 2016 के उपचुनाव में उन्होंने कांग्रेस के हिमाद्री सिंह को हराया था. 2014 में जीतने वाले बीजेपी के दलपत सिंह परस्ते का निधन होने के बाद इस सीट पर उपचुनाव हुआ था.

इस सीट पर 5 बार बीजेपी तो 7 बार कांग्रेस को जीत मिली है. साल 1996, 1998, 1999 और 2004 के चुनाव में बीजेपी को यहां पर लगातार जीत मिली थी. लेकिन 2009 के चुनाव में यहां पर कांग्रेस ने वापसी की और राजेश नंदिनी यहां के सांसद बने.

नर्मदा के इस उदगम स्थलपर चाहे किसानों की ज़मीन के अधिग्रहण का मामला हो या स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर नागपुर ट्रेन की अरसे से मांग हो, पर्यटन के लिहाज से बांधवगढ़ के लिए कनेक्टिविटी की मांग हो, कोल माइन्स होने के बावजूद बेरोजगारी का दंश हो, इन मुद्दों के बीच कई और भी कारण हैं जो इस सीट पर सियासी समीकरण बिगाड़ते और बनाते हैं. 1996 से 2014 तक बीजेपी का कमल ही इस सीट पर खिला है . इसके बाद 2009 में यहां कांग्रेस ने बाजी मारी.

टीकमगढ़ लोकसभा सीट: इस बार दिलचस्प है यहां का मुकाबला

शह़डोल जिला मध्यप्रदेश के उत्तर-पूर्वी भाग में स्थित है. इस जिले का गठन 1959 मे किया गया. यह पूर्व में अनुपपूर, दक्षिण में मंडला और बिलासपुर, उत्तर में सतना एवं सीधी तथा पश्चिम में उमरिया जिले से घिरा हुआ है. 2011 की जनगणना के मुताबिक शहडोल की जनसंख्या 2410250 है.

यहां की 79.25 फीसदी आबादी ग्रामीण क्षेत्र और 20.75 फीसदी आबादी शहरी क्षेत्र में रहती है. यहां की 44.76 आबादी अनुसूचित जनजाति और 9.35 फीसदी आबादी अनुसूचित जाति के लोगों की है. चुनाव आयोग के आंकड़े के मुताबिक 2014 के चुनाव में यहां पर 15,61,321 मतदाता थे. इनमें से 7,54,376 महिला मतदाता और 8,06,945 पुरुष मतदाता थे. 2014 के चुनाव में इस सीट पर 62.03 फीसदी मतदान हुआ था.

2009 लोकसभा चुनाव परिणामकांग्रेस के खाते में गई सीट
कांग्रेस के राजेश नंदिनी जीते
बीजेपी के नरेन्द्र सिंह मरावी को हराया
जीत का अंतर-13 हजार 415

2009 में कांग्रेस ने बीजेपी के गढ़ में सेंधमारी की, लेकिन अपनी हार का बदला बीजेपी ने 2014 में लिया, जहां रिकार्ड तोड़ मतों से बीजेपी के दलपत सिंह परस्ते जीते.

2014 लोकसभा चुनाव परिणाम
बीजेपी के दलपत सिंह परस्ते जीते
कांग्रेस के राजेश नंदिनी सिंह को दी मात
जीत का अंतर- 2 लाख 41 हजार 301

Loksabha Elections: इस बार होशंगाबाद से कौन बनेगा विजेता?

2014 में दलपत सिंह परस्ते तो चुनाव जीते लेकिन उनके निधन के बाद इस सीट पर उपचुनाव हुआ ..जहां उपचुनाव में बीजेपी के ज्ञान सिंह ने बाजी मारी, जिन्होने कांग्रेस कैंडिडेट हिमाद्री सिंह को मात दी.
2016 में हुआ उपचुनाव
बीजेपी के ज्ञान सिंह जीते
कांग्रेस की हिमाद्री दलबीर सिंह हारी
जीत का अंतर- 60 हजार 383
बीजेपी सांसद ज्ञान सिंह के निर्वाचन को जबलपुर हाइकोर्ट ने शून्य घोषित किया जिससे बीजेपी को झटका लगा लेकिन इस मामले में सुप्रीम कोर्ट से ज्ञान सिंह स्टे ले आए.

शहडोल लोकसभा सीट में शामिल 4 जिले शामिल हैं. शहडोल, अनूपपुर, उमरिया, कटनी. शहडोल लोकसभा में शामिल 8 विधानसभाएं- शहडोल जिले की जयसिंह नगर और जैतपुर विधानसभा, अनूपपुर जिले की कोतमा, अनूपपुर, पुष्पराजगढ़, उमरिया जिले की बांधवगढ़, मानपुर विधानसभा, कटनी जिले की बड़वारा विधानसभा हैं. इन आठ विधानसभा की बात की जाए तो अनूपपुर की तीनों विधानसभाओ और कटनी के बड़वारा में कांग्रेस ने जीत हासिल की है बाकी बची सीटों पर बीजेपी काबिज है.

लोकसभा चुनाव 2019 में दोनों उम्मीदवार दल बदल कर आए है .कांग्रेस की हिमाद्री सिंह ने बीजेपी का दामन थाम लिया तो वहीं बीजेपी की प्रमिला सिंह कांग्रेस के साथ हैं. अब देखना होगा कि कौन महिला उम्मीदवार इस सीट से बाजी मारेगी.

यह भी पढ़ें- उज्जैन लोकसभा सीट: बीजेपी का गढ़ रही धार्मिक नगरी की क्या है स्थिति

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शहडोल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 14, 2019, 10:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर