• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • कांग्रेस में घमासान: कमलनाथ के फैसले की जांच करने पहुंची राहुल गांधी की टीम

कांग्रेस में घमासान: कमलनाथ के फैसले की जांच करने पहुंची राहुल गांधी की टीम

राहुल गांधी (फोटो-न्यूज18)

राहुल गांधी (फोटो-न्यूज18)

कमलनाथ द्वारा 20 नए जिला अध्यक्षों की घोषणा की गई. जिसमें से शहडोल जिला अध्यक्ष की नियुक्ति का मामला अब दिल्ली पहुंच गया है

  • Share this:
मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले कांग्रेस में एक बार फिर बवाल शुरू हो गया है. इस बार नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ही राहुल गांधी के निशाने पर आ गए हैं. दरअसल, हाल ही में प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा 20 नए जिला अध्यक्षों की घोषणा की गई. जिसमें से शहडोल जिला अध्यक्ष की नियुक्ति का मामला अब दिल्ली तक पहुंच गया है.

राहुल गांधी तक पहुंची थी शिकायत
कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने 20 जिला अध्यक्षों को बदला था, जिसमें संभागीय जिला शहडोल भी शामिल था. शहडोल में कमलनाथ गुट के सुभाष गुप्ता को जिला अध्यक्ष नियुक्त किया गया है, लेकिन एक साल पहले 2017 में शहडोल नगर पालिका चुनाव के दौरान कांग्रेस से बगावत करने पर सुभाष को 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया गया था. प्रदेश कांग्रेस में बदलाव होने के बाद कमलगुट होने के कारण सुभाष गुप्ता को शहडोल कांग्रेस का जिला अध्यक्ष बना दिया गया. जिसकी शिकायत राहुल गांधी से की गई है.

बंद कमरे में जांच कर लौटे राष्ट्रीय सचिव
राष्ट्रीय सचिव हर्षवर्धन सपकल 27 मई की शाम शहडोल पहुंचे. यहां सर्किट हाउस में बंद कमरे के भीतर पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ बैठकर रायशुमारी की. इस दौरान राष्ट्रीय सचिव सपकल ने निजता का पूरा ध्यान रखा और बंद कमरे में कार्यकर्ता, पदाधिकारी और जनप्रतिनिधियों से जिला अध्यक्ष की नियुक्ति को चर्चा की. इस दौरान ब्यौहारी ​विधायक रामपाल सिंह पहुंचे थे. बताया जा रहा है कि उन्होंने भी जिला अध्यक्ष की नियुक्ति को लेकर असंतोष जाहिर किया है.

राहुल गांधी को सौंपी जाएगी जांच रिपोर्ट
मध्यप्रदेश में ऐसा पहली बार हुआ है, जब किसी जिला अध्यक्ष की नियुक्ति पर जांच करने राष्ट्रीय टीम खुद राष्ट्रीय कांग्रेस अध्यक्ष के निर्देश पर आई हो. महाराष्ट्र से बुल्डाना विधायक हर्षवर्धन ने बंद कमरे में कार्यकर्ताओं से रायशुमारी कर ली है. बताया जा रहा है कि 90 प्रतिशत शिकायतों को सही पाया गया है. कल इसकी रिपोर्ट सीधे दिल्ली जाकर राहुल गांधी को देंगे.

निष्कासन को लेकर उठे हैं सवाल
मध्यप्रदेश कांग्रेस में कमलनाथ के खिलाफ गुटबाजी करने वाले कांग्रेसी नेताओं ने दिल्ली जाकर सवाल उठाया है कि कांग्रेस के खिलाफ ही बगावत करने वाले एक निष्का​सित कार्यकर्ता को सीधे पार्टी का जिला अध्यक्ष कैसे बना दिया गया. वहीं पार्टी सूत्रों का कहना है कि खुद कमलनाथ को सुभाष गुप्ता के निष्कासन की पूरी जानकारी नहीं थी. उन्हें भी गुमराह करके लिस्ट जारी करवा दी गई है. बहरहाल नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ अपने टीम की पहली लिस्ट जारी करके बैकफुट पर चले गए हैं.

ये पढ़ें- एमपी में फिर निकला 'मिस्टर बंटाधार' का जिन्न, BJP ने बनाया 'मास्टर प्लान'
-..तो अब सिर्फ एमपी की राजनीति करेंगे कांग्रेस के 'चाणक्य'!

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज