शाजापुर : उफनती पार्वती नदी में डूबने से एक ही परिवार की 3 बेटियों की मौत, 1 लापता
Shajapur News in Hindi

शाजापुर : उफनती पार्वती नदी में डूबने से एक ही परिवार की 3 बेटियों की मौत, 1 लापता
एक किशोरी का अब तक पता नहीं चल पाया है.

सीएम शिवराज सिंह चौहान (cm shivraj singh) ने इस हादसे पर अफसोस जताया है. हैरानी की बात है कि शासन-प्रशासन की बार-बार चेतावनी के बावजूद लोग उफनते नदी-नाले देखने घर से निकल रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 24, 2020, 7:02 PM IST
  • Share this:
शाजापुर. मध्य प्रदेश के शाजापुर जिले में आज भीषण हादसा हो गया. यहां पार्वती नदी (Parvati River) में एक ही परिवार की 5 लड़कियां नदी में डूब गयीं. इनमें से तीन की मौत हो गयी. जबकि एक को बचा लिया गया. लेकिन पांचवी किशोरी का अब तक पता नहीं चल पाया है. मृतकों में दो सगी बहने हैं. इनकी तीसरी बहन लापता है. रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है. सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj) ने इस हादसे पर अफसोस जताया है.

शाजापुर में कालापीपल क्षेत्र के अंतिम छोर और सीहोर जिले की सीमा पर पार्वती नदी में सोमवार को एक बड़ा हादसा हो गया. यहां एक ही परिवार की पांच बालिकाएं नदी में डूब गयीं. मौके पर मौजूद लोगों ने इनमें से दो को फौरन पानी से बाहर निकाल लिया. लेकिन तब तक एक की मौत हो चुकी थी. बहाव इतना तेज़ था कि बाकी तीन बच्चियां बह गयीं. तीनों सगी बहनें थीं.

बचाव कार्य शुरू
खबर मिलते ही प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची और रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया. रेस्क्यू के लिए शाजापुर जिले की होमगार्ड और एसडीआरएफ टीम मौके पर पहुंची. उधर सीहोर जिले से भी राहत और बचाव दल मौके पर पहुंच गया दोनों टीमों ने बचाव कार्य शुरू किया. शाम होते-होते पानी में बही दो और बच्चियों की लाश मिल गयी, लेकिन इनकी तीसरी बहन का पता नहीं चल पाया.
नदी में अठखेलियां कर रही थीं लड़कियां


शुक्रवार और शनिवार को प्रदेश भर में तेज बारिश के बाद हर तरफ नदी नाले उफान पर हैं. शासन-प्रशासन की बार-बार चेतावनी के बावजूद लोग उफनते नदी-नाले देखने घर से निकल रहे हैं. सोमवार को सीहोर जिले के मुंडला मीणा गांव में रहने वाला एक परिवार पार्वती नदी के किनारे सैर-सपाटे के लिए पहुंचा था. परिवार की पांचों किशोरी नदी के पानी में अठखेलियां कर रही थीं. तभी वह तेज भंवर में फंस गयीं और पानी में बह गयीं. मौके पर मौजूद लोगों ने फौरन बच्चियों को तलाशना शुरू किया. उन्होंने दो को तो नदी से बाहर निकाल लिया लेकिन 3 लड़कियां तेज़ बहाव में बह गयीं.

2 की लाश मिली, तीसरी लापता
हादसे की जानकारी लगते ही कालापीपल तहसीलदार और सीहोर जिला प्रशासन के अधिकारी कर्मचारी मौके पर पहुंचे. राहत और बचाव कार्य शुरू किया गया. इस हादसे में 17 साल की अफसान की मौत हो गयी, जबकि16 साल की मुन्नी को जीवित बचा लिया गया. तीन सगी बहनें 17 साल की मनता शाह, 14 साल की केलसा और 11 साल की सानिया बह गयीं. देर शाम इनमें से दो ली लाश मिल गयी, लेकिन तीसरी का पता नहीं चल पाया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज