VIDEO: अस्‍पताल में डॉक्‍टर की गैर मौजूदगी, महिला मरीजों ने दिया धरना

शाजापुर के जिला अस्‍पताल में शुक्रवार को महिला मरीजों ने जमकर हंगामा मचाया. इस हंगामे की वजह थी डॉक्टर की गैर मौजूदगी. वे जिला अस्पताल के मेन गेट पर धरने पर बैठ गईं.

Sunil Hanchoria | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 14, 2018, 5:33 PM IST
Sunil Hanchoria
Sunil Hanchoria | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 14, 2018, 5:33 PM IST
मध्‍यप्रदेश के अस्पताल अब इतने बीमार हो चले हैं कि मरीजों को इलाज के लिए धरना तक देना पड़ रहा है. ताजा मामला शाजापुर का है, जहां शुक्रवार को महिला मरीजों ने जिला अस्‍पताल में जमकर हंगामा मचाया. इस हंगामे की वजह थी डॉक्टर की गैर मौजूदगी. दरअसल ये दूरदराज से आई ये सभी महिलाएं गुरुवार रात से सोनोग्राफी करवाने के लिए नंबर लगाकर बैठी हुई थीं, लेकिन शुक्रवार सुबह अचानक डॉक्टर के छुट्टी पर होने का हवाला देते हुए एक नोटिस चिपकाकर सोनोग्राफी कक्ष पर ताला लगा दिया गया और इन महिलाओं को दो दिन बाद आने को कहा गया.

बीते कई दिनों से ये गर्भवती महिलाएं इसी तरह से परेशान हो रही थीं. इसी के चलते उनका गुस्सा फूट पड़ा और वे जिला अस्पताल के मेन गेट पर धरने पर बैठ गईं और रास्ता पूरी तरह बंद कर दिया. काफी देर तक गहमागहमी का माहौल रहा पर जब कोई सुनवाई नहीं हुई तो ये मायूस महिलाएं अस्‍पताल से लौट गईं.

आपको बता दें कि अस्पताल में रेडियोलॉजिस्ट का पद पिछले चार सालों से खाली पड़ा है. जिन दो डॉक्टरों को ट्रेंनिग दिलवाकर यहां तैनात किया गया था, वे भी छुट्टी पर चले गए. इस पूरे मामले में जब अस्पताल के सिविल सर्जन से बात की गई तो पहले तो वे 'ऑल इज वेल' का दावा करते दिखे, लेकिन जब बात सोनोग्राफी की आई तो डॉक्टरों के पद खाली होने का हवाला दे दिया, यानी इस बीमारी का इलाज सिविल सर्जन के पास भी नहीं है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर