Home /News /madhya-pradesh /

african and namibian cheetahs will be relocated in sheopur kuno palpur sanctuary mpsg

श्योपुर के कूनो पालपुर अभयारण्य में आएंगे अफ्रीका और नामीबिया के चीते, जानिए क्या है प्लान

Kuno Palpur Sanctuary Sheopur, कूनो में चीतों के रहने की जगह कम पड़ सकती है इसलिए प्रबंधन नये इंतजाम कर रहा है.. (फोटो: Youtube)

Kuno Palpur Sanctuary Sheopur, कूनो में चीतों के रहने की जगह कम पड़ सकती है इसलिए प्रबंधन नये इंतजाम कर रहा है.. (फोटो: Youtube)

Good Wildlife News : श्योपुर का कूनो पालपुर अभयारण्य लंबे समय से नये मेहमानों का इंतजार कर रहा है. गिर के शेर यहां लाने की योजना लंबे समय से चल रही है. अब अफ्रीका और नामीबिया से चीते लाने का प्लान है. इसी सिलसिले में दोनों देशों के विशेषज्ञों की टीम यहां आयी और पूरे अभयारण्य का दौरा करके लौटी. टीम को यहां बाकी सब तो ठीक लगा लेकिन चीतों के बाड़े में कुछ छोटे-मोटे काम और कराने के लिए कहा है. जिन्हें तेजी के साथ कराया जा रहा है.

अधिक पढ़ें ...

श्योपुर. मध्यप्रदेश के श्योपुर जिले के कूनो पालपुर अभयारण्य में अफ्रीका के साथ अब नामीबिया के भी चीते दिखाई देंगे. सरकार इसकी जोरशोर से तैयारी कर रही है. अफ्रीका और नामीबिया के विशेषज्ञों की टीम हाल ही में यहां का दौरा करके लौटी है. उसे कूनो का वातावरण और जरूरी सुविधाएं चीतों के लिए अनुकूल लगीं. जो छोटी-बड़ी खामियां उसे यहां मिलीं, उन्हें दूर करने की सलाह विशेषज्ञ दे कर गए हैं.

श्योपुर का कूनो पालपुर अभयारण्य लंबे समय से नये मेहमानों का इंतजार कर रहा है. गिर के शेर यहां लाने की योजना लंबे समय से चल रही है. अब अफ्रीका और नामीबिया से चीते लाने का प्लान है. इसी सिलसिले में दोनों देशों के विशेषज्ञों की टीम यहां आयी और पूरे अभयारण्य का दौरा करके लौटी. टीम को यहां बाकी सब तो ठीक लगा लेकिन चीतों के बाड़े में कुछ छोटे-मोटे काम और कराने के लिए कहा है. जिन्हें तेजी के साथ कराया जा रहा है.

मुकुंदरा में रखे जाएंगे कुछ चीते
अब चर्चा है कि अगर अफ्रीका के साथ – साथ  नामीबिया भी चीते भेजता है तो कुनों में बनाए गए बाड़े में चीतों के लिए एरिया कम पड़ेगा. ऐसे में कुछ चीतों को श्योपुर से सटे हुए राजस्थान के मुकुंदरा के बाड़े में अस्थाई तौर पर कुछ समय के लिए शिफ्ट किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें- ओवैसी का कट्टरवाद पर बयान…ये एक समाज नहीं देश की समस्या, हम आरएसएस विचारधारा के विरोधी

बब्बर शेर आ न सके
श्योपुर के कूनो पालपुर अभयारण्य को गुजरात के गिर अभयारण्य के बब्बर शेरों के दूसरे घर के रूप में विकसित किया गया था. पहले यहां बब्बर शेरों की बसाहट कराने की कोशिश की गई लेकिन, किन्ही कारणों से बब्बर शेरों को अभी तक नहीं लाया जा सका है. अब अफ्रीका और नामीबिया के कुछ चीतों को कूनो में बसाने की तैयारी है. अफ्रीका और नामीबिया के एक्सपर्ट यहां का दौरा करके अधिकारियों को जल्द ही चीते भेजने के संकेत दे चुके हैं. यहां की तैयारियां भी लगभग पूरी हो चुकी हैं. अगर सब कुछ ठीक रहा तो अगस्त से सितंबर माह तक यहां अफ्रीका के 12 और नामीबिया के 6 चीतों को शिफ्ट कर दिया जाएगा.

12 चीते रखने की जगह
कूनो में तैयार किए गए बाड़े की कैपेसिटी 12 चीतों को रखने की है. ऐसे में अगर नामीबिया के 6 चीते भी साथ में यहां भेजे जाते हैं तो सीमावर्ती राजस्थान के मुकुंदरा में बने पुराने बाड़े में करीब 6 चीतों को कुछ समय के लिए रखा जाएगा. श्योपुर में व्यवस्था होने के बाद फिर उन्हें कुनों में शिफ्ट कर दिया जाएगा. डीएफओ प्रकाश वर्मा का कहना है अफ्रीका और नामीबिया के एक्सपर्ट हमारी तैयारियों को और यहां के माहौल को ठीक तरह से देख चुके हैं. उन्होंने जो खामी बतायी वह छोटे-छोटे काम तेजी के साथ किए जा रहे हैं. हमारी 90 प्रतिशत से ज्यादा तैयारी पूरी हो चुकी है. अफ्रीका के अलावा नामीबिया से भी चीते मिलने के संकेत मिल रहे हैं. अगर चीते एक साथ आते हैं तो कुछ को राजस्थान में कुछ समय के लिए रखा जाएगा. बाद में उन्हें यहीं शिफ्ट कराया जाएगा.

Tags: Asiatic Cheetah, Madhya pradesh latest news, Wildlife, Wildlife Conservation in India, Wildlife department, Wildlife news in hindi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर