vidhan sabha election 2017

CM शिवराज ने कहा, 'बिजली बिल ज्यादा आए तो किसान उसे न भरें'

भाषा
Updated: December 8, 2017, 9:49 AM IST
CM शिवराज ने कहा, 'बिजली बिल ज्यादा आए तो किसान उसे न भरें'
Photo- MP Govt
भाषा
Updated: December 8, 2017, 9:49 AM IST
मध्य प्रदेश विद्युत वितरण कंपनियों द्वारा किसानों को दिए जा रहे भारी भरकम बिजली के बिलों की शिकायतों के बीच प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किसानों से कहा कि विद्युत कंपनियों द्वारा दिए गए इन बिलों का भुगतान वे तब तक न करें, जब तक इनकी विसंगतियों का निराकरण नहीं हो जाता.

शिवपुरी जिले के कोलारस विधानसभा क्षेत्रान्तर्गत बदरवास कस्बे में एक किसान सभा को संबोधित करते हुए चौहान ने कहा कि इन बिलों के निराकरण के लिए राज्य सरकार जल्द ही बिजली पंचायत लगाएगी, जहां किसान अपनी समस्या सामने रख सकते हैं.

उन्होंने क्षेत्र के किसानों से कहा, वे बिजली का भारी भरकम बिल नहीं भरें और बिल तब तक नहीं भरें जब तक बिजली पंचायत में उन विसंगति मूलक बिलों से सम्बंधित समस्या का समाधान न हो जाए.

चौहान ने उपचुनाव के ऐलान के पूर्व यह घोषणा की है. राजनीतिक गलियारों में मुख्यमंत्री की इस घोषणा को कोलारस विधानसभा क्षेत्र में होने वाले उपचुनाव के रूप में देखा जा रहा है. कांग्रेस विधायक राम सिंह का 18 अक्तूबर को हुए आकस्मिक निधन से कोलारस विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव होना है.

इसी बीच, मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अरुण यादव ने ट्विटर पर लिखा, 'मुख्यमंत्री जी चुनाव 11 महीने बाद पूरे मध्य प्रदेश में होना है. बिजली बिल न भरने के सुविधा अविलंब आम उपभोक्ताओं को भी दें. केवल उपचुनाव वाले इलाक़ों को सुविधाएं न दें. आप मुख्यमंत्री पूरे प्रदेश के हैं.'

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश विद्युत वितरण कंपनियों द्वारा किसानों को भारी-भरकम बिजली के बिल थमाए जा रहे हैं, जिससे किसान नाराज हैं. किसानों का आरोप है कि विद्युत वितरण कंपनियों द्वारा उन्हें गलत बिल दिए जा रहे हैं, जिसकी शिकायत अधिकारियों से की गई है. लेकिन अब तक इसका कोई समाधान नहीं हो पाया है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर