होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /Dussehra: यहां 40 सालों से मुस्लिम परिवार की वजह से जलता है रावण, पिता की उम्र हुई तो बेटे ने संभाली विरासत

Dussehra: यहां 40 सालों से मुस्लिम परिवार की वजह से जलता है रावण, पिता की उम्र हुई तो बेटे ने संभाली विरासत

रावण का पुतला तैयार करते हुए मुस्लिम परिवार.

रावण का पुतला तैयार करते हुए मुस्लिम परिवार.

मध्य प्रदेश के शिवपुरी ज़िले से एक पाॅज़िटिव स्टोरी सामने आई है. यहां एक बेटे ने अपने पिता की उस विरासत को संभाल लिया है ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट – सुनील रजक

    शिवपुरी. ज़िले में दशहरे का त्योहार सांप्रदायिक सौहार्द्र की एक कहानी कह रहा है. हिंदू मुस्लिम कौमी एकता की मिसाल पेश करते हुए खनियाधाना का एक मुस्लिम परिवार दहन किए जाने वाले रावण का पुतला पिछले 40 सालों से लगातार तैयार कर रहा है, वह भी पूरे अपने खर्चे पर निस्वार्थ भाव से औश्र बिना कोई पारिश्रमिक लिये. सेवा और सौहार्द्र का भाव यह भी है कि पिता की परंपरा को बेटे ने जारी रखने का बीड़ा उठा लिया है.

    ज़िले के खनियाधाना कस्बे के बस स्टैंड पर मिस्टर खान के नाम से जाने जाने वाले स्टैंड कंडक्टर यह काम 40 सालों से बिला नागा करते चले आ रहे हैं. रावण बनाने के साथ-साथ नवरात्रि के पर्व पर खनियाधाना में होने वाली रामलीला में भी खान तरह तरह के पात्रों के अभिनय करते हैं और इनको रामायण की चौपाइयां भी ज़ुबानी याद हैं. एक अहम बात यह भी है कि कोरोना महामारी के पहले खान जब हज यात्रा पर गए हुए थे, तब दशहरे के पर्व पर रावण बनाने का संकट खड़ा हो गया था. तब अपने पिता की परंपरा न टूटे इसलिए उनके बेटे अनवर खान ने विरासत को संभाला था.

    इस साल बनाया 50 फीट ऊंचा पुतला

    पूरी लगन और मेहनत से अनवर ने 40 फीट ऊंचा रावण का पुतला तैयार किया था. अनवर मोटरसाइकिल मैकेनिक हैं. खान अब बुजुर्ग होने के कारण उतना काम नहीं कर पाते इसलिए अनवर ने उनकी विरासत को बखूबी संभाला है. पिता का हाथ बंटाते हुए अनवर ने इस साल 50 फीट ऊंचा रावण का पुतला बनाकर तैयार कर लिया है, जिसे हाई स्कूल मैदान में दहन किया जाएगा. अनवर का कहना है कि हिंदू-मुस्लिम सौहार्द्र की इस मिसाल और पिता की परंपरा को वह कभी नहीं टूटने देंगे.

    Tags: Dussehra Festival, Ravana Dahan Story, Shivpuri News

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें