स्‍कूल के किसी कमरे में दरवाजा नहीं, किताबों की हिफाजत के लिए टॉयलेट को बनाया लायब्रेरी

स्कूल के शौचालय में पुस्तकालय संचालित किया जा रहा है और छात्र-छात्राएं खुले में शौच जाने के लिए मजबूर हैं.

  • Share this:
मध्य प्रदेश में शिक्षा विभाग मासूमों को शिक्षा देने के लिए कितना प्रयासरत है, इसकी एक बानगी शिवपुरी का एक स्कूल दिखा रहा है. शिवपुरी जिले के कोलारस अनुविभाग की झाडेल ग्राम पंचायत के अटलपुर पिपरौदा गांव के शासकीय प्राथमिक विद्यालय में स्कूल प्रबंधन ने शौचालय  को ही पुस्तकालय के रूप में तब्दील कर दिया है.

शौचालय में स्कूल का पुस्तकालय संचालित किया जा रहा है और अध्यापक बच्चों को खुले में बिठाकर पढ़ा रहे हैं. स्कूल के शिक्षक कक्षा कमरों में अपनी मोटरसाइकिल खड़ी कर रहे हैं. शौचालय में स्कूल प्रबंधन ने पुस्तकालय बना दिया, जिसके बाद छात्र-छात्राएं खुले में शौच जाने के लिए मजबूर हैं.

मामले में विद्यालय के सहायक शिक्षक वीरेंद्र सिंह तिर्की ने बताया कि स्कूल से पुस्तकें चोरी हो जाती हैं, जिसके चलते वे पुस्तकों को शौचालय में रखकर ताला लगा देते हैं. स्कूल के अन्य कमरों में दरवाजे नहीं हैं, जिससे उनमें स्कूल की सामग्री नहीं रखी जा सकती. मामले में वरिष्ठ अधिकारी कुछ भी बोलने के लिए तैयार नहीं हैं और मामले की जांच की बात कह रहे हैं.



यह भी पढ़ें-  बिल्डिंग होगी सरकारी और स्कूल लगेगा प्राइवेट, कुछ ऐसा है सरकार का प्लान
यह भी पढ़ें-  बीजेपी फिर सत्ता में आई तो सरकारी स्कूलों में 'मध्य प्रदेश' गान होगा

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज