अपना शहर चुनें

States

शिवपुरी पुलिस ने डकैत बैजू गुर्जर गिरोह के चंगुल से चरवाहे को मुक्त कराया,1 डकैत पकड़ा गया

डकैत गिरोह ने 10 लाख की फिरौती चरवाहे के परिवार से मांगी थी.
डकैत गिरोह ने 10 लाख की फिरौती चरवाहे के परिवार से मांगी थी.

पुलिस (Police) ने एक शॉर्ट एनकाउंटर के बाद चरवाहे को डकैतों (Dacoit) के चंगुल से मुक्त करा लिया है. एसपी राजेश चंदेल ने इसकी पुष्टि की है. पुलिस ने इस दौरान एक डकैत को भी हिरासत में लिया है जिससे पूछताछ की जा रही है.

  • Share this:
शिवपुरी. शिवपुरी (Shivpuri) की जांबाज़ पुलिस (Police) ने डकैत गिरोह के चंगुल से चरवाहे को मुक्त करवा लिया है. साथ ही एक डकैत को भी पकड़ लिया है. डकैत बैजू गुर्जर गिरोह ने कल इस चरवाहे का अपहरण कर लिया था. गिरोह ने फिरौती के तौर पर उसके परिवार से 10 लाख रुपए की फिरौती मांगी थी. पुलिस ने सुनाज के जंगल में मुठभेड़ के बाद चरवाहे को मुक्त कराया.

शिवपुरी जिले के कोलारस थाना इलाके के सुनाज टीला क्षेत्र से मंगलवार शाम एक चरवाहे मुंशी रेवाड़ी का अपहरण कर लिया गया था. जब अपहरणकर्ताओं ने उसके परिवार से फिरौती मांगी तब पता चला कि राजस्थान के कुख्यात डकैत बैजू गुर्जर गिरोह ने चरवाहे को पकड़ा है. खबर की पुष्टि होते ही शिवपुरी की कोलारस पुलिस सक्रिय हो गयी और उसने चरवाहे की तलाश शुरू कर दी. सर्चिंग पार्टियां जंगल में उतार दी गयीं.

जंगल में मुठभेड़
पुलिस ने एक शॉर्ट एनकाउंटर के बाद चरवाहे को डकैतों के चंगुल से मुक्त करा लिया है. एसपी राजेश चंदेल ने इसकी पुष्टि की है. पुलिस ने इस दौरान एक डकैत को भी हिरासत में लिया है जिससे पूछताछ की जा रही है. बताया जा रहा है कि राजस्थान के कुख्यात डकैत बैजू गुर्जर ने बीती शाम मुंशी रेवाड़ी नामक चरवाहे का अपहरण कर लिया था और 10 लाख की फिरौती मांगी थी. यह सूचना पुलिस को मिलते ही पुलिस कप्तान राजेश चंदेल के नेतृत्व में टीम जंगल में उतर गई थी. देर रात डकैतों के साथ हुई एक मुठभेड़ के बाद अपह्रत को मुक्त करा लिया गया.



राजस्थान-मध्य प्रदेश में सक्रिय
पुलिस अधीक्षक का कहना है अभी भी पुलिस टीमें जंगल में सर्चिंग कर रही हैं. गिरोह के अन्य सदस्यों की तलाश जारी है. यह गिरोह राजस्थान के साथ-साथ मध्य प्रदेश में भी घुसकर वारदात कर जाता है. इस वजह से ये गिरोह मध्य प्रदेश पुलिस के लिए भी बड़ी समस्या बना हुआ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज